Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
08-31-2018, 04:33 PM,
#51
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
वो बोला : "नही...इतना भी ज़रूरी नही है....अगर तुम्हारा मन नही है तो मत करो...''

अजय की तरफ से इतने आराम से अपनी बात को मानता देखकर पूजा भी हैरान रह गयी...उसे तो जैसे बहुत बड़ी राहत मिली...पर उस राहत को अगले ही पल अजय ने डर में बदल दिया

अजय : "वैसे भी कल मुझे सोनी ने मिलने बुलाया है... और देखा जाए तो तुमसे काफ़ी सेक्सी है वो...कोई बात नही, तुम नही तो वो सही...''

इतना कहकर अजय ने गाड़ी स्टार्ट की और वो आगे चल दिए.

अजय अपनी तिरछी नज़रों से पूजा के एक्शप्रेशन देखने की कोशिश कर रहा था...उसके तो चेहरे की रंगत ही उढ़ चुकी थी...उसकी समझ में नही आ रहा था की क्या बोले अब..

अगर अजय सोनी के पास चला गया तो, वो तो अपनी चूत भी मरवा लेगी उससे, और उपर से पूरे कॉलेज में जो धाक पूजा ने जमा रखी थी की उसका बाय्फ्रेंड काफ़ी हेंडसम होने के साथ-2 शरीफ भी है और दोनो ने आज तक कभी किस्स तक नही किया, वो भंडा भी उसका फुट जाएगा जब सोनी अपने और अजय के साथ की हुई चुदाई की बातें सभी को चटखारे लेकर सुनाएगी...और उपर से उसे अपनी दीदी के घर टूटने की भी चिंता सताने लगी...अभी तक तो सिर्फ़ एक किस्स से काम चल सकता था...अगर अजय सोनी के पास चला गया तो बात काफ़ी आगे बड़ जाएगी और प्राची तो ये सुनकर मर ही जाएगी की उसके पति का रिश्ता उसी की बहन के कॉलेज की एक लड़की से है...और प्राची दीदी को प्रेगनेंसी की हालत में वो कोई भी दुख नही देना चाहती थी..

वो एकदम से बोली : "अरे नही जीजू...आप उस सोनी की बातों में ना आओ, वो तो एक नंबर की बिच है...पूरे कॉलेज में बदनाम है वो...आज तक पता है कितने बाय्फरेंड्स रह चुके है उसके...और कोई भी 10-15 दिन से ज़्यादा नही टिकता...बड़ी ही चीप टाइप की लड़की है वो...आप उससे दूर ही रहो...''

अजय (मुस्कुराते हुए) : "मुझे उन सबसे क्या लेना...मैं तो बस कल शाम उससे मिलकर आ जाऊंगा ..एक कॉफ़ी पियुंगा बस...''

पूजा (थोड़े गुस्से में ) : हाँ ..हाँ ...पता है मुझे...किस तरह की कॉफ़ी के लिए बुलाया है उसने आपको...साली बिच...जिस दिन से उसने आपको देखा है,उसी दिन से उसकी आँखों में मैने पड़ लिया था...और आज उसने अपनी असलियत दिखा ही दी...लेकिन आपको मेरी कसम है जीजू...आप उसके पास मत जाना प्लीज़....''

इतना कहकर पूजा अजय के बिल्कुल करीब खिसक आई और अपने हाथों से उसकी बाजुओं को पकड़कर अजय से लिपट गयी...और अपना सिर उसके कंधे पर रख दिया..ये पहली बार था जब पूजा ने खुद अपनी तरफ से कोई फीलिंग दिखाई थी.

और ऐसा करते ही उसके नाज़ुक स्तन भी अजय की बाजुओं से घिसने लगे...अजय जब भी गियर चेंज करता तो उसकी कोहनी पूजा के स्तनों को अंदर तक झंझोड़ देती..पर पूजा वहां से हटी ही नही...अजय से चिपक कर बैठी रही.

अजय : "एक तरफ तुम अपना वादा तोड़ रही हो..और उपर से अपनी कसम देकर मुझे सोनी से मिलने भी नही दे रही...''

अब तक शायद पूजा सब कुछ सोच चुकी थी और अपने मन में कुछ निश्चय भी कर चुकी थी....उसने अपना चेहरा उपर उठाया और अजय की आँखो में देखते हुए बोली : "आप उसके पास मत जाओ प्लीज़...मैं अपना वादा निभाने के लिए तैयार हूँ ...''

उसके होंठों से निकल रही भीनी खुश्बू अजय के बिल्कुल करीब थी....इतने रसीले होंठ अजय ने आज तक नही देखते थे....उसका मन तो कर रहा था की थोड़ा आगे हो जाए और उसके होंठों पर किस्स कर दे,पर वो ये इतनी जल्दी नहीं करना चाहता था. 

अजय : "फिर ठीक है....सोनी वाला प्रोग्राम केंसल ...''

तब तक वो सेंट्रल पार्क भी आ चुका था...अजय ने बाहर ही गाड़ी रोक दी..


पूजा : "गाड़ी क्यो रोक दी आपने...''

अजय : "मुझे गाड़ी में घुटन होती है...वैसे भी बाहर देखो,कितनी बढ़िया हवा चल रही है....चलो पार्क में चलकर बैठते है थोड़ी देर...''

पूजा : "जीजू !!!!! इस वक़्त......11 बजने वाले है....प्लीज़ एक किस्स ही तो करनी है आपको...यहीं कर लो ना.....पार्क में जाते हुए मुझे डर लगेगा...और शर्म भी आएगी मुझे..''

अजय : "इस वक़्त कौन होगा जिसे देखकर तुम्हे शर्म आएगी...और मेरे होते हुए तुम्हे डरने की कोई ज़रूरत नही है...मुझपर भरोसा करो और चलो मेरे साथ...और याद रखो, ये तुम्हारी लाइफ की पहली किस है, इसे ऐसी घुटन भरी जगह पर मत करो...बाहर निकलो और खुले आसमान के नीचे चलकर अपनी पहली किस्स का मज़ा लो..''

अजय की बात सुनकर पूजा का चेहरा शर्म से लाल हो उठा..क्योंकि हर लड़की की तरह उसने भी अपने जीवन की पहली किस्स के लिए कई सपने संजोए थे...और आज जब वो घड़ी आई तो वो उन सपनो के बारे में भूल ही चुकी थी..अजय के कहने से वो सपने एक बार फिर से उसकी आँखो के सामने नाचने लगे..

उसने सोचा हुआ था की उसके दिल का राजकुमार , किसी नदी या समुंदर के किनारे उसे अपनी गोद में लिटाकर..उसके फूल से चेहरे को सहलाएगा...अपनी उंगलियों को उसकी आँखो, गालों और रसीले होंठों पर फिराएगा...और फिर धीरे से नीचे झुक कर अपने होंठ उसके नर्म मुलायम होंठों पर रख देगा...और दोनो एक कभी ना टूटने वाले चुंबन के बंधन में बंध जाएँगे...



"अब चलो भी अंदर....क्या सोचने लगी...''

अजय की आवाज़ सुनकर वो अपने ख़यालो से बाहर आई और झट से गाड़ी से निकलकर उसके साथ पार्क की तरफ चल दी.

रात का समय था,और पार्क बिल्कुल सुनसान सा था...अजय वहां पहले भी कई बार आ चुका था,इसलिए वो पूजा को लेकर थोड़ा अंदर की तरफ चलने लगा..

पूजा : "जीजू...कहाँ जा रहे हो...यहीं कर लो ना ...मुझे डर लग रहा है..''

पूजा उसकी बाजू पकड़ कर और चिपक कर चल रही थी...और अजय को उसके जिस्म से मिल रहे इस एहसास को फील करके काफ़ी मज़ा आ रहा था.

अजय : "बस थोड़ा और अंदर...एक ऐसी जगह है, जो तुम्हे भी पसंद आएगी...''

कहते-2 अजय उसे लेकर और अंदर की तरफ चल दिया.

पूजा को तो इस बात का पता भी नही था, पर अजय को ये एहसास हो चुका था की उनका कोई पीछा कर रहा है...एक सांया था, जो उनके पार्क में आते ही पेड़ों के पीछे से छिप -छिपकर उनके पीछे ही आता चला जा रहा था..

ये सोनी थी..जो एंट्री गेट के पास ही छुपकर अजय और पूजा को अंदर आते हुए देख चुकी थी..

उसे तो लगा था की अजय अंदर आते ही सामने पड़े एक बेंच पर बैठकर या पेड़ के नीचे खड़े होकर पूजा को किस्स करेगा, पर वो अंदर आकर चलता ही चला गया, इसलिए उसे भी छिप -छिपकर उनका पीछा करते हुए उसी तरफ जाना पड़ा,जहाँ वो दोनो जा रहे थे.

थोड़ा अंदर पहुँचकर जब अजय एक स्थान पर रुका तो वहां का नज़ारा देखकर पूजा की आँखे आश्चर्य से फैल गयी.

वहाँ एक छोटी सी झील थी...जिसके किनारे लकड़ी के बेंच और बड़े-2 पत्थर पड़े हुए थे...और उपर से पूर्णमाशी के चाँद की रोशनी से पूरा पार्क जगमगा रहा था...और झील में दो हँसो आ जोड़ा भी तैर रहा था...यानी कुल मिलाकर कुछ-2 वैसा ही रोमॅंटिक माहौल था जैसा पूजा ने सपनों में संजोया हुआ था.

और अजय भी बड़ा हरामी टाइप का था, वो जानता था की ऐसी जगह पर आकर पूजा थोड़ी रोमांटिक हो जाएगी,और फिर उससे कुछ भी करवाना ज़्यादा मुश्किल नही होगा.

अजय सीधा जाकर बेंच पर बैठ गया...और अपना एक हाथ आगे करके उसने पूजा को भी अपनी तरफ बुलाया..

पूजा मंत्रमुग्ध सी होकर अजय की तरफ चल दी.

दूर पेड़ के नीचे बैठी सोनी उन्हे देखकर जल भुन रही थी..

पूजा धीरे-2 चलती हुई बेंच तक आई और धीरे से वो अजय के करीब बैठ गयी...अजय ने उसकी कमर मे हाथ रखकर उसे अपने और करीब खिसका लिया..पूजा ने अपना सिर होले से अजय के कंधे पर रख दिया...

अजय ने अपना चेहरा उसकी तरफ घुमाया और उसके माथे को चूम लिया..अजय के होंठों के स्पर्श से ही पूजा के शरीर में कंपन दौड़ गया...दिल की धड़कने और बढ़ गयी...उसके होंठ भी काँपने लगे..और फिर पूजा ने अपने शरीर को ढीला छोड़ दिया...और वो धीरे-2 फिसलकर नीचे की तरफ जाने लगी...और फिर उसने अपना सिर अजय की गोद में पहुँचा दिया और खुद सीधी होकर बेंच पर लेट गयी...

ये वही पोज़िशन थी जिसमें वो अपने सपनो के राजकुमार से पहली बार अपने होंठों को चुसवाना चाहती थी...

अजय भी अपनी गोद में लेटी पूजा के सेक्सी चेहरे को देखकर रोमांचित हो उठा...चाँद की रोशनी उसके चेहरे पर पड़ रही थी जिसकी वजह से उसका चेहरा और भी ज़्यादा दमक रहा था.

पूजा ने नशीली आँखो से अजय को देखा और उसके सिर के पीछे अपना हाथ रखा और अपनी तरफ करते हुए बोली : "आओ अजय...किस्स मीsssssssssssssssss ...''
वासना
..
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:33 PM,
#52
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
19



**********
अब आगे
**********


ये शायद पहला मौका था जब पूजा ने अपने जीजू को उसके नाम से बुलाया था...पर इस वक़्त की डिमांड भी यही थी, वो अपनी रिश्तेदारी बीच में लाकर अपना मूड खराब नही करना चाहती थी.

अजय ने भी अपनी जीभ से अपने सूखे हुए होंठों को गीला किया और नीचे झुक गया....और पूजा के फूल से चेहरे को अपने हाथों में पकड़कर उसने अपने दहकते हुए होंठ उसके नर्म लबों पर रख दिए...



एक बिजली सी कोंध गयी पूजा के शरीर में ...शरीर अकड़ गया...उसके हाथों की पकड़ अजय के सिर पर तेज हो गयी....और उसने किसी नागिन की तरह फ़ुफ़कारना शुरू कर दिया...उसके चेहरे से अजीब तरीके से गर्म साँसे निकलने लगी...शायद उत्तेजनावश हो रहा था ये सब...

अजय ने अपने एक्सपीरियेन्स का इस्तेमाल करते हुए,अपने होंठों को धीरे-2 उसके होंठों पर घुमाया, रगड़ा पर चूसा नही...और सिर्फ़ 30 सेकेंड में वो पीछे हो गया और बोला : "बस...हो गया...चलो अब चलते है...''

और पूजा की तो ऐसी हालत हो गयी जैसे उसके मुँह मे कोई मिठाई डालकर निकाल ली गयी हो...अभी तो उसे किस्स का एहसास मिलना शुरू भी नही हुआ था और अजय ऐसा बोल रहा था...पूजा अपनी लाइफ की पहली किस्स को यादगार बना देना चाहती थी...वो उत्तेजना में भरकर बिफ़र सी गयी और उसने अजय के सिर पर दबाव डालते हुए अपनी तरफ खींचा और बोली : "नोssssssssssssssssss .....अभी नही.....''

और इतना कहते हुए उसने अपने होंठों से अजय के होंठों को इतनी ज़ोर से दबोचा की उसकी चीख निकल गयी जिसे दूर बैठी सोनी ने भी सुना....



सोनी तो पूजा का ये रूप देखकर हैरान हुए जा रही थी....की कैसे वो अजय के होंठों को किसी पागल बिल्ली की तरह चूस रही है..

अजय ने अब अपने आप को पूजा के हवाले छोड़ दिया था...उसे पता था की ऐसा ही कुछ होगा...पूजा ने अपने दोनों हाथों को उसकी गर्दन में लपेट कर अपने आप को पूरी तरह से अजय की गोद में पहुँचा दिया था...और उसकी मोटी छातियाँ अजय के चौड़े सीने से रगड़ खाकर बुरी तरह से पिस्स रही थी...

पूजा अपने रसीले होंठों से अजय को बुरी तरह से चूस रही थी....स्मूच कर रही थी वो...अपनी जीभ उसके मुँह में धकेलती ...उसके होंठों को अपने दाँतों से काटती ...अपनी जीभ को किसी ब्रश की तरह अजय के दोनो होंठों और चेहरे पर फिराती...और ये सब लगभग 10 मिनट तक चलता रहा...अब पूजा वो सब कर रही थी जो उसने अपने दिल में सोच के रखा हुआ था की जब वो पहली बार किसी को किस्स करेगी तो ऐसे करेगी...और उपर से वो फ़िल्मो में देखी गयी किस्सेस को ध्यान में रखकर वही करने की कोशिश कर रही थी...और इन सबमे उसे मज़ा भी बहुत आ रहा था..
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:33 PM,
#53
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
इतनी लंबी किस्स तो अजय ने आज तक नही की थी...पर उसने भी पूजा को नही टोका,आख़िर पूजा की जिंदगी की ये पहली थी...और उपर से ऐसे रोमॅंटिक माहौल ने उसकी भावनाओ को जगा दिया था, जिसकी वजह से वो अजय को छोड़ने का नाम ही नही ले रही थी..

और दस मिनट के बाद जब वो रुकी तो दोनो की हालत खराब हो चुकी थी...दोनो की साँसे फूल चुकी थी...

अपनी सांसो पर काबू पाते हुए अजय ने पूछा : "कैसी रही...तुम्हारी लाइफ की पहली किस्स ....???''

ये सुनकर पूजा के चेहरे पर हँसी आ गयी...और वो बोली : "बिल्कुल वैसी ही,जैसी मैने सोची हुई थी...अब तो आप खुश हो ना...मेरे ठरकी जीजू''

''मेरे ठरकी जीजू'' बोलते हुए उसने एक क्विक किस्स दोबारा कर दी अजय के होंठों पर...

और फिर वो बोली : "अब मत जाना उस सोनी की बच्ची के पास....समझे...''

अजय : "हाँ ....नही जाऊंगा ...और मज़ा तो आया मुझे.....पर एक किस्स अगर मेरे दोस्त को भी कर देती तो वो भी सोनी के पास जाने की ज़िद नही करेगा...''

पूजा की आँखे फैल गयी ये सुनकर, वो बोली : "दोस्त ?????? कौन दोस्त....''

अजय ने उसके हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया और बोला : "ये दोस्त....जिसके दिमाग़ में अभी तक सोनी ही बसी हुई है...तुमने मुझे तो राज़ी कर लिया,पर इसे भी तो राज़ी करो,ताकि ये भी वहां नही जाए....''

अजय के ऐसा करते ही पूजा के चेहरे पर पसीना आ गया....वो जड़वत सी होकर रह गयी...एक तो पहली बार उसने किसी को क़िस्स्स की थी, और उपर से पहली बार वो किसी का लंड पकड़ रही थी...



एक ही दिन में 2 झटके मिल रहे थे उसे अपनी लाइफ में.

उसने अपना हाथ हटाना चाहा तो अजय ने रोक दिया और बोला : "प्लीज़ पूजा....सिर्फ़ एक बार....अब इतना कुछ तो हो ही चुका है हमारे बीच,ये भी हो जाएगा तो क्या होगा...एक बार किस्स कर लो बस....फिर मैं कुछ भी करने को नही कहूँगा तुम्हे....''

पूजा : "पर जीजू.....ये सब......आई मीन..........गलत है .....ना....''

अजय : "देखा जाए तो सब ग़लत है, तुम्हारा मुझे अपनी सहेलियों के सामने बी एफ बोलना, हमारा यहाँ आना, हमारा किस्स करना...सब ग़लत है...ऐसे में एक और ग़लत काम हो जाएगा तो कुछ नही होगा...''

पूजा अजय की गोद में बैठी ये सब बातें कर रही थी...और दूर बैठी सोनी को कुछ भी सुनाई नही दे रहा था...वो तो पहले से ही उन दोनो की इतनी हॉट और सेक्सी किस्स को देखकर अपनी चूत मसल रही थी...और अब ये सोचकर की शायद कुछ देर के लिए दोनो बातें कर रहे हैं,वो उनके अगले एक्शन का इंतजार करते हुए अपने बूब्स दबा रही थी झाड़ियों के बीच बैठकर..

अजय ये तो समझ ही चुका था की वो मान जाएगी, बस थोड़ी बहुत और मेहनत करनी पड़ेगी..

इसी बीच पूजा ने अपना हाथ छुड़वा लिया और बोली : "नही जीजू...ये मुझसे नही होगा...आप चाहो तो थोड़ी देर तक और किस्स कर सकते हो मुझे...''

इतना कहकर उसने फिर से अपनी आँखे बंद कर ली और अपना चेहरा अजय के सामने परोस दिया..

अजय भी हरामी था, उसे पता था की ऐसे मौके पर क्या करना चाहिए....उसने पूजा के चेहरे को पकड़ा और उसे फिर से चूमना शुरू कर दिया...और इस बार अपने वाले जंगली तरीके से....



जिसे महसूस करके पूजा के शरीर का पारा बढ़ता चला जा रहा था...

और इसी बीच अजय ने अपनी पेंट की ज़िप खोलकर अपने लंड को बाहर निकाल लिया....और पूजा को चूमते-2 ही उसने उसके हाथ को पकड़कर एक बार फिर से अपने लंड की तरफ दबा दिया...एक तो अजय की किस्स का नशा और उपर से उत्तेजना का...ऐसे में पूजा ने भी मना नही किया और अजय के लंड वाले हिस्से पर अपने नाज़ुक हाथ रख दिए ...
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:33 PM,
#54
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
पर इस बार लंड अंदर नही,बाहर था..और नंगा भी 

और अजय के नंगे लंड पर हाथ लगते ही उसकी आँखे गोल हो उठी...और उसने हैरान होते हुए अपना चुम्बन तोड़ दिया और अपनी नज़रें घुमाकर उसने नीचे देखा.

अजय का लौड़ा किसी नाग की तरह लहराता हुआ उसकी पेंट से निकल कर खड़ा था. और पूजा के हाथ अजय के काले लंड पर लिपटे हुए थे 



और पहली बार किसी के इतने लंबे लंड को इतने करीब से नंगा देखकर पूजा अपनी सुध बुध खो बैठी...वो चाहकर भी अपने हाथ अजय के लंड से नही हटा पा रही थी 


और फटी हुई आँखो से उसे देखती ही रह गयी..

अजय : "बस एक बार...एक बार चूम लो इसको....प्लीज़...''

पूजा ना में सिर हिलाती रह गयी पर अजय ने उसे अपने लंड पर दबा दिया...उसका सिर्फ़ सिर ही हिल रहा था ना में , नीचे जाने में उसने कोई विरोध नही किया...और जैसे ही अजय के लंड की खुश्बू उसकी नाक से टकराई,पता नही क्या नशा चड़ा उसपर,उसकी आँखे फिर गयी...वो मदहोश सी हो गयी...और एक बार फिर से उसके मुँह से तेज साँसे निकलने लगी...और अजय ने उसकी मदहोशी का फायदा उठाते हुए अपने लंड को उसके होंठों से लगा दिया...और बाकी का काम उसने खुद ब खुद कर लिया...एक ही झटके में वो अजय के लंड को किसी मोटे खीरे की तरह अपने मुँह में ले गयी...



और फिर अपनी गर्म जीभ उसपर रखकर उसने जोरों से उसे चूसना शुरू कर दिया....अजय का लंड उसके मुंह में ऐसा गया जैसे कोई मोटा गन्ना जूस निकालने वाली मशीन में जा फंसता है , और पूजा उसे चूसकर जूस निकालने में लग गयी और उसे ढेर सारी थूक से नहला दिया...



अजय ने तो सिर्फ़ किस्स करने के लिए बोला था उसे...पर ये शायद उसकी एक और फॅंटेसी थी अपने राजकुमार के लिए, की पहली बार जब उसके लंड को चुसेगी तो क्या करेगी..

बस फिर क्या था....पूजा ने अजय के लंड के साथ ठीक वैसा ही व्यवहार करना शुरू कर दिया जैसा वो उसके होंठों के साथ कर रही थी...

बुरी तरह से उसने अजय के मोटे ताजे लंड को पकड़ कर चूसना , चूमना और चाटना शुरू कर दिया..


अजय ने अपने दोनों हाथों से उसके सिर को पकड़ रखा था...और अपनी आँखे बंद करके उसके होंठों का मज़ा ले रहा था...



और दूर बैठी सोनी को उसने इशारा करके ये भी जता दिया की देखे लो...जो देखने के लिए तुम मरी जा रही थी, वो सब पूजा कर रही है.. 

सोनी ने शायद अपनी लाइफ में आज तक इतने गर्म सीन नही देखे थे, जो अजय और पूजा एक दूसरे के साथ कर रहे थे...उसका एक हाथ फिसलकर उसकी जींस में घुस चुका था और वो वहीं गंदी सी ज़मीन पर , पेड़ के नीचे बैठकर, एक हाथ से अपनी चूत और दूसरे से अपना दाँया स्तन दबा रही थी..

भले ही सोनी थोड़ी दूर थी, पर फिर भी उसकी हरकतों को देखकर, और अपने लंड के उपर चल रहे हमले को महसूस करके अजय एक मिनट में ही झड़ने के करीब पहुँच गया..वैसे तो जिस तरह का कामुक खेल उसके और पूजा के बीच चल रहा था, ऐसे में वो काफ़ी समय पहले ही झड़ चुका होता अगर उसके लंड को सही तरीके से तवज्जो मिली होती, पर पूजा ने जिस जंगली अंदाज में उसके लंड लंड को चूसना शुरू किया तो वो ऑर्गॅज़म जो उसने अपनी इच्छा-अनुसार दबा कर रखा हुआ था, एक भयानक रूप लेकर बाहर निकलने लगा...

और वो अपने झड़ने की खबर पूजा को नही देना चाहता था, क्योंकि वो उसे अपने लंड की गर्म बारिश में भिगो देना चाहता था...

और बिना किसी वॉर्निंग के उसके लंड से एक बारूद सा फूट पड़ा...और वो अपनी कमर तिरछी करके ज़ोर से चिल्लाया...

''आआआआआआहह ........ ओह ...पूज़ाआाआआअ....... ओह..... आई एम कमिंग ...................... ''

और कमिंग वर्ड सुनते ही पूजा का एंटिना एकदम से खड़ा हो गया, और उसने लंड को बाहर निकालना चाहा, पर तब तक देर हो चुकी थी....अजय के लंड ने एक के बाद एक पिचकारियाँ मारकर उसके मुँह को अपने गाड़े रस से भर दिया...



और उपर से अजय ने उसके सिर पर दबाव डालकर अपना रस उगलता हुआ लंड उसके मुँह के और अंदर घुसेड़ दिया...और ऐसा करते ही आख़िरी की पिचकारियाँ सीधा उसकी हलक के अंदर गयी...और साथ ही साथ उसके मुँह में भरा हुआ रस भी...कुछ बाहर गिरा और कुछ अंदर....



पूजा की आँखे बाहर निकलने को हो गयी...ऐसा गेग किया था अजय ने अपने लंड से उसकी हलक को...

और अंत मे अजय ने अपना लंड बाहर खींच लिया...और पूजा खाँसती हुई पीछे हट गयी...

दोनो अपनी-2 हालत को संभालने की कोशिश करने लगे...

पूजा ने अपने पर्स से पानी को बॉटल निकालकर अपना मुँह सॉफ किया...पानी पिया...पर अजय के रस का स्वाद उसके मुँह से जा ही नही रहा था...वैसे तो काफ़ी टेस्टी लगा था वो उसे...पर बेशर्म होकर वो कुछ बोल भी नही सकती थी उसे.

थोड़ी देर बाद दोनो बिना कुछ बोले बाहर की तरफ चल दिए..

अजय ने जाते हुए एक बार पीछे मुड़कर सोनी की तरफ देखा..जो झड़ने के बाद निढाल सी होकर आधी नंगी सी पेड़ के नीचे बैठी थी...

और दोनो के ही मन में सिर्फ़ एक बात चल रही थी..

'कल मिलो ज़रा...तब देखा जाएगा की किसमे कितना दम है.'

वापिस जाते हुए पुर रास्ते पूजा ने अपने जीजू का हाथ नही छोड़ा, वो अजय की बाजू को अपनी बगल में दबा कर बैठी रही और उसे अपने स्तनों की गर्मी प्रदान करती रही.अजय भी उसमे आए इस बदलाव से काफ़ी खुश था.

प्राची काफ़ी देर से उनका इंतजार कर रही थी...वैसे तो अजय ने कॉलेज से निकलने से पहले उसे बता ही दिया था की प्रोग्राम थोड़ा लेट ख़त्म हुआ है इसलिए आने में देर हो जाएगी पर फिर भी एक आदर्श बीबी की तरह वो बिना खाना खाए अजय का वेट कर रही थी.

अजय के साथ पूजा भी उपर आ गयी, क्योंकि काफ़ी रात हो चुकी थी और वो अपने घर वालो को उठाना नही चाहती थी.वैसे भी प्राची ने पहले ही अपनी माँ को बोल दिया था की दोनो लेट आएँगे इसलिए पूजा आज की रात उनके घर ही सो जाएगी.
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#55
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
प्राची ने खाना गर्म किया और सबने मिलकर खाया.

बीच-2 में अजय और पूजा की नज़रें जब भी मिलती तो दोनो के चेहरे पर एक अजीब सी स्माइल आ जाती, पूजा तो अपनी जिंदगी के इस पहले सेक्स एक्सपीरियेन्स से काफ़ी उत्साहित थी..अभी तो सिर्फ़ किस्स और लंड चुसाई ही हुई थी...बाद में जब असली काम शुरू होंगे तो कैसा फील होगा...यही सोचकर वो मुस्कुराए जा रही थी.अब उसे भी अपने ठर्की जीजू अच्छे लगने लगे थे..और लगे भी क्यो नही,ऐसा एक्सपीरियेन्स जो मिला था उसे अपने जीजू से..

अजय के मन में कुछ और ही चल रहा था...वो सोच रहा था की अब ये बात तो पक्की हो चुकी है की आज की रात पूजा उनके घर पर ही रुकेगी..इसलिए रात को मौका देखकर वो थोड़ा आगे बढ़ने की सोच रहा था..चुदाई तो नही पर उसकी कुँवारी चूत के पानी को पीने की त्रीव इच्छा हो रही थी उसे.

उसे अपनी सुहागरात याद आ रही थी,जब उसने अपनी लाइफ में पहली बार किसी की यानी प्राची की चूत चूसी थी...और वो काम उसने चुदाई से पहले किया था...यानी उसने प्राची की चूत जब चूसी थी,तब वो कुँवारी थी..भले ही उसके बाद हर रात उसने वो चूत चुसाई दोहराई थी,पर वो मज़ा आज तक उसे नही मिल पाया था जो कुँवारी चूत को चूसने पर मिला था..कुँवारी चूत में से निकलने वाली वो भीनी सी महक...वो सुगंध आज तक अजय के नथुनों में समायी हुई थी...इसलिए अजय ने ठान लिया था की पूजा की चूत मारने से पहले वो उसकी चूत कम से कम 15-20 बार चुसेगा..

पर हर बार की तरह अजय का ये ख़याल शायद आज की रात पूरा नही होने वाला था.

क्योंकि आज प्राची की चूत में भूकंप आया हुआ था..और वो तो कब से अजय के घर वापिस आने का ही इंतजार कर रही थी...और ऐसे में उसका पूजा के पास जाना बड़ा ही मुश्किल था.

प्राची की प्रेगनेंसी की वजह से वो दोनो ज़्यादा चुदाई नही कर पा रहे थे, इसलिए प्राची की चूत में आज ज्वार भाटे की तरह उफान आ रहे थे...

इसलिए जैसे ही पूजा बाथरूम में कपड़े बदलने के लिए गयी, प्राची झट से आकर अजय की गोद में बैठ गयी.

अजय : "अर्रे ... ये क्या कर रही हो...तुम्हारी बहन ने देख लिया तो...''

प्राची (थोड़े लाड भरे स्वर में) : "देखती है तो देख ले...मुझे कोई फ़र्क नही पड़ता...मैं तो अपने पति की गोद में बैठी हूँ ...किसी गेर की नही...और वैसे भी ..आज बड़ा मन कर रहा है....प्लीज़ जल्दी चलो ना अंदर...''

कहते -2 उसने अपने गीले होंठ अजय के होंठों पर रख दिए और बुरी तरह से चूसने लगी.



अजय तो उस चुम्मे को देखकर ही समझ गया की आज प्राची उसकी लेकर रहेगी...और इसलिए उसे अपने और पूजा के बीच वाला प्रोग्राम खटाई में जाता हुआ दिखाई दिया.

पर अगले ही पल उसने सोचा की वो तो इधर उधर मुँह मार रहा है, उसकी बीबी का क्या, वो अपनी प्यास बुझाने कहाँ जाए...वैसे भी उसने सुन रखा था की प्रेग्नेन्सी के समय औरत की चुदाई करवाने की इच्छा कई गुना बड़ जाती है...और वैसे भी अपनी बीबी के प्रति भी तो उसका कोई फ़र्ज़ है...और ऐसी हालत में थोड़ा संभलकर ही सही उसे खुश करना उसका फ़र्ज़ है.


ये सोचकर अजय ने भी अपनी तरफ से उसे चूमना शुरू कर दिया और उसका हाथ सीधा उसकी ब्रेस्ट पर जा चिपका..और गाउन के नीचे ब्रा के ना होने के एहसास से ही अजय को पता चल गया की ये तो पहले से ही तैयार होकर बैठी हुई है.

अजय ने उसके गाउन की जीप खोल दी और उसकी उभरी हुई ब्रेस्ट की लकीरों को चूमने लगा..

प्राची : "अब चिंता नही है क्या तुम्हे अपनी साली की ....''

वो भी मज़े ले रही थी अजय से..

अजय : "वो देखती है तो देख ले...मैं अपनी बीबी को किस्स कर रहा हूँ ,किसी गैर को नही..''

अजय ने भी उसी टोन में कहा जिसमें प्राची ने वो बात कही थी..

और अजय के ऐसा कहते ही प्राची को ढेर सारा प्यार आ गया अपने पति पर...और उसने अपने गाउन को फेला कर अजय को अंदर घुसा लिया और अपनी मोटी छातियों से उसके चेहरे की मसाज करने लगी.

ठंडे-2 बूब्स के नर्म एहसास में आते ही अजय को ऐसा लगा की वो किसी जन्नत में आ गया है...वो भी अपनी आँखे बंद करके उस मसाज का मज़ा लेने लगा.

और इसी बीच पूजा कपड़े बदल कर बाहर आ गयी...आज वो जान बूझकर बिना ब्रा के टी शर्ट पहन कर आई थी...ताकि अपने खड़े हुए निप्पल अपने जीजू को दिखा कर थोड़े और मज़े ले सके..और साथ में केप्री पहनी हुई थी उसने..

पर बाहर निकलते ही, ड्रॉयिंग रूम में उसने जो दृश्य देखा , उसे देखकर वो ठिठक कर रह गयी..

उसकी बड़ी बहन प्राची अपने पति यानी अजय की गोद में बैठकर अपने स्तन उससे चुस्वा रही थी...

दोनो की पीठ थी उसकी तरफ,इसलिए वो पूजा को नही देख सकते थे...वो दबे पाँव वापिस अंदर गयी और दरवाजा थोड़ा सा खोलकर अंदर ही खड़ी हो गयी...पता नही क्या आया था उसके मन में , वो चाहती तो थोड़ी बहुत आवाज़ निकालकर उन्हे सचेत कर सकती थी और फिर दूसरे रूम में जाकर सो सकती थी..पर उसने ऐसा किया नही...शायद आज जिस तरह का एहसास अजय ने उसे दिया था,उसकी वजह से सेक्स के प्रति उसकी एक अलग ही रूचि बन चुकी थी...और ऐसे में अजय और प्राची को इस हालत में देखकर वो भी छुपकर देखने लगी की आगे क्या होता है.

पर अंदर ही अंदर उसे ये सब अक्चा नही लग रहा था...ठीक वैसी ही फीलिंग आ रही थी उसे जैसी तब आई थी जब अजय ने सोनी के पास जाने की बात बताई थी..वो दोनों ना मिल सके, यही सोचकर उसने किस्स के लिए हाँ करी थी..वो जलन, वो जेलिसी जो उस वक़्त सोनी से हुई थी पूजा को, अब प्राची से हो रही थी...

भले ही प्राची अजय की बीबी थी और सिर्फ़ उसका ही हक था उसपर...पर अजय के साथ पार्क मंो हुए एक्सपीरियेन्स की वजह से अब पूजा को भी लगने लगा था की उसका भी कोई हक़ है अजय पर...इसलिए उसे इस तरह अपनी बीबी के मुम्मे चूसते देखकर उसे बड़ा गुस्सा भी आ रहा था...पर उसने उनको देखना बंद नही किया..क्योंकि ये पहला मौका था जब वो किसी को ऐसा करते हुए देख रही थी.



अजय ने प्राची के स्तनों को अच्छी तरह से पीया और फिर वापिस उपर आकर उसके होंठों को चूसने लगा...प्राची का हाथ नीचे आकर अजय के खड़े हुए लंड को टटोल रहा था...दोनो ही जानते थे की वहाँ बैठकर इस समय कुछ भी करना संभव नही है, पर दोनो में से कोई रुक भी नही रहा था...अगर पूजा आज की रात उनके घर पर ना होती तो अजय ने अब तक उसे वहीं नंगी करके घोड़ी बना दिया होता और खुद भी नंगा होकर उसकी चुदाई करने मे लगा होता..पर पूजा की वजह से वो अपने कपड़े नही उतार रहे थे.

और उन दोनो को तो ये बात पता भी नही थी की जिसके डर से वो चूमा चाटी से ज़्यादा नही कर पा रहे है, वो पूजा बाथरूम मे छुपकर उन्हे ही देख रही थी...
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#56
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
20



**********
अब आगे
**********

पूजा को बेतहाशा चूमते-2 अजय ने अपना लंड पायजामे से निकालकर उसके हाथ में पकड़ा दिया...अजय का गर्म लंड हाथ में आते ही प्राची किसी नागिन की तरह फुफ्कारने लगी...अपनी चूत वाले हिस्से को अजय की जाँघ पर रगड़कर वो अपनी उत्तेजना का इज़हार सरेआम करने लगी..

अजय फुसफुसाया : "तेरी बहन ना होती ना इस समय घर पर, तो यही नंगा करके चोद देता तेरी चूत को...''

प्राची ने भी हुंकार भरते हुए कहा : "तुम कब से ऐसे डरने लग गये...तुम मर्दों को तो ये सब अक्चा लगता है की कोई तुम्हे सेक्स करते हुए देखे...है ना...''

प्राची की ये बात सुनकर अजय चोंक गया....आज से पहले प्राची ने ऐसी बात की ही नही थी..वो तो काफ़ी रिसर्व रहने वाली और अजय को भी कंट्रोल में रखकर चलने वाली औरत थी...ऐसा वो पहली बार बोल रही थी..

अजय ने भी सोचा की इसे कुरेद कर देखा जाए की ये किस हद तक आगे जाती है..

वो बोला : "मुझे डर इस बात से नही लग रहा की कोई हमें देख लेगा, बल्कि इस बात से लग रहा है की वो देखने वाली मेरी साली होगी...और अगर उसने मेरा लंबा लंड देख लिया तो उसका भी दिल आ जाएगा इसपर...''

उसने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए कहा..

अजय के ऐसा बोलते ही प्राची का लहज़ा बदल गया : "उसकी आँखे नोच लूँगी अगर मेरे पति के लंड की तरफ देखा भी तो...चाहे वो मेरी बहन ही क्यो ना हो...''

अजय ने अपना माथा पीट लिया...शायद आवेश में आकर वो कुछ ज़्यादा हो बोल गया था....वो बेचारा अब पछता रहा था की उसने इतना बाड़िया मौका ऐसे ही गँवा दिया..

उसने तुरंत बात को संभालते हुए कहा : "ओहो.....मुझे पता था की मेरी जान के लिए मेरा ये लंड कितना कीमती है...मैं तो बस मज़ाक कर रहा था...चलो अब...अंदर चलो...मुझसे अब रहा नही जा रहा ....''

प्राची भी बिना कुछ बोले उठ गयी और दोनो एक दूसरे को चूमते-2 अपने बेडरूम में चले गये.

बाथरूम के अंदर खड़ी पूजा ने वो सब सुन लिया था और वो हैरान हुए जा रही थी की किस तरह से प्राची ने उसके बारे में बोला...भले ही वो ऐसा कोई इरादा नही रखती थी..और हर कोई बीबी ऐसा ही कहेगी, पर फिर भी पूजा को अपनी सग़ी बहन से ऐसे बर्ताव की उम्मीद नही थी...और थोड़ी देर पहले जो ईर्ष्या की भावना उसके मन में आई थी, वो धीरे -2 नफ़रत के रंग में नहाने लगी...

उसने मन में निष्चय कर लिया की अब जो भी हो जाए, वो अजय को प्राची से छीनकर ही रहेगी...अपने जीजू को सोनी के चुंगल से निकालकर जो कॉन्फिडेंस पूजा में आया था, वो अभी तक बरकरार था, इसलिए उसे ये काम बड़ा ही आसान लग रहा था.

पर अभी के लिए वो उन दोनो का ये खेल भी देखना चाहती थी, जो खेलने के लिए दोनो अपने बेडरूम में गये थे...अब उसका दिमाग़ किसी जासूस की तरह चल रहा था,जो अपने शिकार की हर हरकत पर नज़र रखकर अपने अगले चरण की रूपरेखा बनाता है..

वो धीरे-2 चलती हुई उनके बेडरूम तक गयी, और हमेशा की तरह उनका दरवाजा सिर्फ़ बंद था, अंदर से लॉक नही.

और बीच के चीरे में से देखने पर उसे अंदर चल रही रास लीला पूरी तरह से दिखने लगी.

अजय ने प्राची के बूब्स को बाहर निकाल कर बुरी तरह से चूसना शुरू कर दिया था...और प्राची उसके बालों को पकड़कर उसके चेहरे को अपनी छातियों में उसे ऐसे घिस रही थी जैसे कोई खुजली मिटा रही हो..



अजय के हाथ हरकत में आए और उसने प्राची के गाउन को घुमाकर सिर से निकाल दिया.


और अब वो पूरी नंगी खड़ी थी अजय के सामने...



प्रेगनेंसी की वजह से हल्का सा पेट निकला हुआ था..बाकी सब पहले जैसा ही था.

अपनी बहन को ऐसे नंगा देखकर पूजा भी शरमाकर रह गयी...ये पहला मौका था जब उसने अपनी बहन को शादी के बाद ऐसे नंगा देखा था..शादी से पहले दोनों बहने अक्सर एक दूसरे के सामने कपड़े बदल लेती थी..पर उस समय दोनो ज़्यादा ध्यान नही देती थी एक दूसरे पर..

लेकिन उस वक़्त की प्राची और आज की प्राची में ज़मीन आसमान का फ़र्क आ चुका था..

उसके बूब्स पहले के मुक़ाबले काफ़ी बड़े और गोल हो चुके थे.



उसके निप्पल भी काफ़ी लंबे लग रहे थे पहले के मुक़ाबले...शायद खड़े होने की वजह से..

और उसकी गांड के तो क्या कहने...इतनी बाहर निकल चुकी थी की उसके गद्देदार होने का एहसास बाहर खड़ी पूजा को भी हो रहा था, क्योंकि वो ज़रा सी हिलती तो उसकी गांड की थिरकन दूर से ही दिखाई दे जाती...



और नीचे उसकी सफाचत और रसीली चूत, जिसमे से रस बहकर नीचे गिर रहा था , वो पहले से काफ़ी साफ़ सुथरी और बड़ी सी भी लग रही थी..



और शरीर के साथ -2 उसकी जांघे भी काफ़ी भर चुकी थी.
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#57
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
यानी कुल मिलाकर वो शादी के बाद पूरी तरह से खिल चुकी थी..

कली से फूल बन चुकी थी...

जिसपर जवानी का रंग बेमिसाल तरीके से चड़ा हुआ था.

पूजा सोचने लगी की क्या वो भी शादी के बाद ऐसी रसीली सी दिखने लगेगी...जब उसकी रोज चुदाई होगी...

और अगर उसने चुदाई पहले ही करनी शुरू कर दी तो....यानी उसके जीजू ने अगर उसकी चूत रोज इसी तरह से मारनी शुरू कर दी तो उसके जिस्म पर भी ऐसी जवानी की बहार आ जाएगी..

ये एहसास मिलते ही उसके बदन में सिहरन दौड़ गयी...और उसकी आँखो में लाल डोरे तैरने लगे.

पर अगले ही पल वो लाल डोरे और भी सुर्ख हो उठे,जब उसकी नज़र एक बार फिर से अजय के लंड पर गयी..

अजय भी अपने कपड़े निकाल कर नंगा हो चुका था, गुड लुकिंग तो वो था ही,उसका कसरती बदन देखकर पूजा की चूत में पानी की एक लकीर बाहर बह निकली...बिल्कुल पर्फेक्ट मेच था वो उसकी सेक्सी बहन के साथ...दोनो एक दूसरे को मात दे रहे थे..

एक ही दिन में दूसरी बार अपने जीजू के लंड के दर्शन करना कोई मामूली बात नही थी.

और उन्हे पूरा नंगा देखने का सोभाग्य उसे आज ही मिल जाएगा, ये भी उसने नही सोचा था.

उसकी नज़र जीजू के लंबे लॅंड के साथ-2 उनकी गांड पर भी थी...यानी अजय के चूतड़ों पर..जो काफ़ी आकर्षक लग रहे थे...उसने सोच लिया की वो जब भी अपने जीजू के साथ कुछ ऐसा - वैसा करेगी तो उनके गले से लगकर उनके चूतड़ ज़रूर दबाएगी. . ये शायद उसकी अनगिनत फैंटसी में से एक थी 

पर अभी के लिए तो वो काम प्राची कर रही थी.

वो अजय को बेड के कोने पर बिठाकर खुद नीचे बैठ गयी और उसके खड़े हुए लंड को मुँह में लेकर जोरों से चूसने लगी.



अपनी बहन को अजय का लंड चूसते देखकर पूजा मुस्कुरा उठी...क्योंकि ये वही लंड था जो कुछ घंटे पहले उसके मुँह में था..और उसके इशारों पर नाच भी रहा था.

और साथ ही साथ पूजा अपनी बहन के लंड चूसने की प्रक्रिया देखकर दंग रह गयी...वो कितनी सफाई से और कितने अंदर तक अजय के लंड को निगल रही थी...एक तरह से देखा जाए तो कुछ नया सीखने को मिल रहा था आज पूजा को...और वो बड़े ही ध्यान से वो सब सीखने की कोशिश भी कर रही थी...क्योंकि आज नही तो कल उसे भी ऐसी कला का इस्तेमाल करके अपने पार्ट्नर को खुश करना पड़ेगा.



उसके दिमाग़ में एक बात आई की ये भी तो एक कला है जो लड़कियों को शादी से पहले सीखनी चाहिए...जैसे वो अपने ससुराल जाने से पहले खाना बनाना और दूसरे घरेलू काम सीखती है, उसी तरह ये काम भी सीखकर ही जाना चाहिए उन्हे, ताकि अपने जीवन का सबसे अहम धर्म ,यानी पति को खुश करने का काम, वो सही ढंग से निभा सके.

ये ख़याल आते ही उसे खुद ही अपनी सोच पर हँसी आ गयी.

अजय के लंड को चूसने के कुछ देर बाद दोनो ने अपनी सीट बदल ली...अब अजय ज़मीन पर घुटनो के बाल बैठा था और प्राची अपनी टांगे फेला कर उसके सामने लेटी हुई थी.



अजय की पेनी जीभ जैसे ही प्राची की चूत से टकराई, प्राची के साथ-2 पूजा के मुँह से भी सिसकारी निकल गयी...पूजा को तो ऐसा लगा की उसके जीजू की जीभ उसकी चूत को कुरेद रही है...उसने तुरंत अपनी चूत को अपने हाथों में दबोच लिया...जो इतनी गीली हो चुकी थी की उसे हाथ में लेते ही ऐसा लगा जैसे कोई चाशनी में डूबा कपड़ा निचोड़ दिया हो उसने...और नीचोड़ा गया गाड़ा रस उसकी उंगलियों से होता हुआ नीचे गिरने लगा.


पर इस वक़्त उसे अपनी चूत से निकल रही चाशनी की नही, बल्कि अंदर जो चाशनी अजय उसकी बहन की चूत से चाट रहा था उसकी चिंता थी...वो बड़े ही कुशल तरीके से प्राची की चूत को अपनी उंगलियों से फेलाकर अपनी जीभ से अंदर से आ रहा पानी सॉफ कर रहा था.

उसकी कार्य कुशलता देखकर पूजा को भी विश्वास हो गया की यही वो बंदा है जो उसे जवानी के इस खेल के सारे दांव-पेंच सीखा सकता है.

और करीब 2 मिनट तक प्राची की चूत चूसने के बाद वो चीख पड़ी..

''आआआआआअहह अजय.....अब आ भी जाओ ना......प्लीईईईईईईस.....डाल दो अपना ये लंड .............मेरी चूत में ........आआआआआआहह जीभ वहां तक नही जा रही ...जहाँ असली मज़ा चाहिए मुझे........ आओ ना.....मेरी जान........ घुसा दो अपना लंड ................. मेरे अंदर..............''

भले ही इस वक़्त पूजा को अपनी बहन के मुँह से निकल रहे ये शब्द सुनने में थोड़े चीप से लग रहे थे, पर उसका असर जिस तरह से अजय पर हुआ वो देखकर तो पूजा हैरान रह गयी...वो थोड़ा सा जंगली हो उठा...शायद वो प्रेगञेन्ट ना होती तो उसे बेड पर पटक कर बुरी तरह से चोद डालता वो...पर थोड़ा कंट्रोल करते हुए उसने अपने लंड को जिस तरीके से उसकी चूत में डाला था, उसके एहसास से दोनो बहनो की आँखे उपर चढ़ गयी...



प्राची की उत्तेजना में आकर 
और पूजा की मस्ती में भरकर 

एक-2 इंच करते हुए अजय का पठानी लंड प्राची के अंदर जा रहा था...और वो अपना मुँह खोलकर , अजय के कंधे को पकड़कर , धीरे-2 सिसक रही थी..

''आआआआआअहह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊहह उम्म्म्ममममममममममम माय गॉड ..... अहह ..अजय ....यस ............... थोड़ा और ..............अहह अंदर तक .............डालो प्लीईईईईस ....... उम्म्म्ममममममममम ....ऑश मेरे अजय .......मेरे राजा .....अहह....''




और एक वक़्त ऐसा आया जब वो पूरा का पूरा लंड प्राची के अंदर घुस गया...और प्राची ने अपनी टांगे अजय की कमर में लपेट कर उसे पूरी तरह से अपने अंदर घसीट लिया...
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#58
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
पूर्ण संतुष्टि का एहसास प्राची के चेहरे पर सॉफ देखा जा सकता था...शायद अजय के लॅंड ने अंदर पहुँचकर वो खुजली मिटा दी थी,जो उसकी जीभ नही मिटा पा रही थी.


कुछ देर तक ऐसे ही पड़े रहकर,अजय ने धीरे-2 लंड को अंदर बाहर करना शुरू किया...पहले से ही गीली हो चुकी चूत में लंड की आवाज़ गूंजने लगी..

फ़च - फ़च की आवाज़ों से पूरा कमरा गूँज रहा था...और साथ ही साथ दोनो की सिसकारियाँ भी...प्राची तो ना जाने कितनी बार झड़ चुकी थी...और हर बार फिर से नये ऑर्गॅज़म के लिए तैयार भी हो जाती थी वो.



और करीब दस मिनट तक प्राची की चूत मारने के बाद अजय के लंड ने जवाब दे दिया....वो बुदबुडाया..

''आआआआआआआअहह .................ओह प्राची .....................मैं आया ....आआआआआआआआआअह्ह .............''

और उसने अपना सारा माल अंदर ही निकाल दिया...

और फिर अपना लंड बाहर खींचकर उसने उसे प्राची के मुँह में दे दिया, जिसपर लगी मलाई को उसने बड़े चाव से चाट लिया और उसे सॉफ सुथरा करके अजय के हवाले कर दिया.



अंदर का शो ख़त्म हो चुका था.इसलिए पूजा भी दबे पाँव वहाँ से निकलकर गेस्ट रूम की तरफ चल दी...और अपने बेड पर लेटकर वो उन सभी बातों को सोचने लगी जो अभी-2 उसकी आँखो के सामने घटी थी.

अजय और प्राची भी फ्रेश होकर एक दूसरे की बाहों में नंगे सो गये.

पर आज की रात कुछ ऐसा होने वाला था जिसकी इस वक़्त अजय और पूजा ने कल्पना भी नही की थी,.


पूजा तो अपने कमरे में पहुंची और अपना पयज़ामा उतारकर उसने बड़ी ही बेदर्दी से दरवाजे की तरफ उछाल दिया...चूत वाले हिस्से से पूरा पायजामा भीगा हुआ था,ऐसा लग रहा था जैसे उसका पेशाब निकल गया है..पर वो था उसकी चूत का मीठा रस.

अंदर उसकी कच्छी भी जूस में डूबकर चूत के अंदर घुसी पड़ी थी...उसने बड़ी मुश्किल से कच्छी के कपड़े को अपनी चूत के होंठों से छुड़वाया ...थोड़ा दर्द भी हुआ..पर कपड़े की रगड़ जब दाने पर हुई तो मज़ा भी बहुत आया.

और फिर कच्छी को भी हवा में उड़ाकर उसने अपनी चूत को आज़ाद करवाया...टी शर्ट भी उसने उतार दी, नीचे ब्रा नहीं पहनी थी.। 

और अब वो पूरी नंगी होकर अपने बेड पर लेटी हुई थी 

और फिर उसने अपने काँपते हुए नर्म हाथ अपनी भभक रही चूत के उपर रखकर ज़ोर से दबा दिए .

''सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स...... उम्म्म्ममममममममममममम ....''




अंधेरे में डूबे हुए घर में उसकी सिसकारी गूँज उठी.

और ये सिसकारी उसने इतनी ज़ोर से ली थी की दूसरे कमरे में आधी नींद में सो रहे अजय के कानों तक भी जा पहुँची.

एक पल के लिए तो उसे लगा की उसकी बाहों में नंगी सो रही प्राची अभी तक अपनी चुदी हुई चूत की तरंगे महसूस करके सिसकारियाँ ले रही है...पर उसके चेहरे को देखकर साफ़ पता चल रहा था की वो तो गहरी नींद में है.

उसका दिमाग़ ठनका ..और वो बिस्तर से चुपचाप निकल कर दबे पाँव बाहर आ गया.

एक नज़र उसने मुड़कर फिर से प्राची की तरफ देखा, जो नंग धड़ंग सी होकर गहरी नींद में सो रही थी.




और फिर दरवाजा खोलकर बाहर आ गया.

और बाहर निकलते ही वो फिसलते-2 बचा...क्योंकि उसका पैर किसी चिकनी चीज़ पर जा पड़ा था..उसने झुककर नीचे देखा तो ढेर सारा तरल प्रदार्थ एक जगह पर गिरा हुआ था...उसने उंगली से छूकर उसे सूँघा और उसकी सुगंध महसूस करते ही उसकी आँखे चमक उठी.

वो चूत का रस था.और वो भी कुँवारी चूत का.

और इस वक़्त उसके घर पर सिर्फ़ एक ही कुँवारी चूत थी.

पूजा.

और पलक समझते ही वो समझ गया की पूजा उनके कमरे के बाहर खड़ी होकर उनकी चुदाई देखकर गयी है...और उनकी जबरदस्त चुदाई देखकर ही उसने अपनी चूत को इतना रगड़ा की उसका रस वहीं दरवाजे के बाहर किलो के भाव बरस गया.

और जो सिसकारी उसने एक मिनट पहले सुनी थी, वो उसी के कमरे से आई होगी.शायद ज्यादा गर्म होने की वजह से फ़िन्गरिंग कर रही है वो वक़्त 

वो ये सब किसी जासूस की तरह सोचकर मुस्कुरा ही रहा था की वैसी ही एक और गर्म सिसकारी की आवाज फिर से आई.

''उूुुुुुुुुुुुुुुउउम्म्म्मममममम.......सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स.....आआआआआआहह''

भले ही ये सिसकारीयां ज़्यादा तेज नही थी, पर रात के सन्नाटे की वजह से वो दूर तक सुनाई दे रही थी.

और अपनी ही मदहोशी में डूबी पूजा को शायद इस बात का एहसास नही था की जिस जीजू के लंबे लंड के बारे में सोचकर वो अपनी चूत के होंठों को मसल रही है वो जीजू उसके कमरे की तरफ दबे पाँव बढ़ते आ रहे है..

उसके कमरे में जाते हुए उसके दिमाग़ में नेहा कक्कड़ का गाना बजने लगा..

कुण्डी ना खड़काओ राजा
सीधा अंदर आओ राजा

और अजय ने पूजा के कमरे का दरवाजा बिना खड़काए धीरे से धकेला तो वो खुलता चला गया..

और कमरे में ज़ीरो वॉट के बल्ब की दूधिया रोशनी में नहाई हुई उसकी नग्न साली अपनी चूत को दरवाजे की तरफ मुँह करके बंद आँखो से उसे बड़े ही आराम-2 से रगड़ रही थी..

और बंद आँखो के पीछे चल रहा था एक हसीन ख्वाब...जिसमे वो अपने जिस्म की आग को ठंडा करने का सपना देख रही थी, अब वो आधी नींद की अवस्था में जा पहुंची थी , जिसमे वो किसी और ही दुनिया में थी, पर असल में उसके हाथ भी हरकत कर रहे थे 

वो सपने में देख रही थी की भारी बरसात में वो उसी पार्क में खड़ी है...और सामने वही झील है...और झील के किनारे का पानी कीचड़ जैसा हो चुका है...पूजा अपनी चूत को मसलते हुए झील के किनारे चलने लगी..वो आगे बड़ी तो उस कीचड़ में फिसल गयी...पूरा शरीर कीचड़ में लिपट कर गंदा हो गया...पर वो तो मस्ती में थी, इसलिए उस कीचड़ में गिरकर भी वो अपनी चूत को मसलती रही...बारिश और कीचड़ में भीगकर उसके कपड़े पारदर्शी हो गये..उसने सिर्फ़ एक लोंग फ्रोक पहनी हुई थी...अंदर कुछ भी नही...अपनी चूत पर गीली मिट्टी रगड़कर उसे बड़ा आनंद मिल रहा था...
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#59
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
तभी झाड़ियो से निकल कर अजय वहां आ गया..और किसी जानवर की तरह रेंगता हुआ वो उसके करीब जा पहुँचा..और इस वक़्त वो पूरा नंगा था..उसका लंबा लंड उसकी टाँगो के बीच झूल रहा था..पानी की बूंदे उसके कसरती शरीर पर गिरकर बूंदे बनकर फिसल रही थी..

अजय को अपने सामने देखकर उसके हाथ और तेज़ी से अपनी चूत पर चलने लगे...ख्वाब में भी और असलियत में भी..

और असलियत में तो वो अजय के सामने अपनी नंगी चूत को मसल कर उसका भरता बनाने में लगी हुई थी..

अजय ने आज पहली बार अपनी साली की वो चिकनी चूत देखी जिसे देखने के लिए वो कब से तरस रहा था..

पूजा की चूत भी उसकी बहन प्राची की तरह ही थी...बिल्कुल सफाचत और उसका चीरा भी काफ़ी लंबा था...और दाना उभरा हुआ सा..



यहा अजय उसकी चूत को निहार रहा था और उधर अपने सपने में पूजा अपनी चूत को और उभार कर अजय को दिखा रही थी..
-  - 
Reply
08-31-2018, 04:34 PM,
#60
RE: Incest Porn Kahani ठरकी दामाद
21



**********
अब आगे
**********


''आआआआआआूओ ना......और कितना तड़पाओगे......आओ प्लीज़......अजय.......कम हेअर .....एंड सक मिईीई.....''



ये शब्द सुनकर तो पूजा के कमरे में खड़े हुए अजय का चेहरा पूरा खिल उठा...वो ये बात तो समझ गया की पूजा इस वक़्त उसका ही कोई सपना देखकर उसे अपने पास बुला रही है...

पर इस बात का कैसे यकीन करे की वो नींद में सपना ले रही है...क्योंकि उसकी हरकतों से तो सॉफ पता चल रहा था की वो जागी हुई है और मस्ती में डूबकर उसने अपनी आँखे बंद की हुई है...

पर आज पार्क में उसने जो मज़े पूजा के साथ लिए थे, उसके बाद उसे पूरा यकीन था की वो जल्द ही थोड़ा और आगे बढ़कर उसे और मज़े देगी...इसलिए वो बिना डरे आगे आया और अपने पेट के बल वो बेड पर लेट गया..और अपना मुँह सीधा पूजा की चूत पर लेजाकर टीका दिया..




पूजा की हालत इस वक़्त बड़ी नाज़ुक अवस्था में थी...वो असल और सपने की दुनिया के बीचो बीच थी...

यानी वो बिना सोए ही इस वक़्त ऐसा सपना देख रही थी जिसे वो अपने जिस्म पर महसूस कर पा रही थी...असल में उसके साथ क्या हो रहा था उसे इसका बिल्कुल भी ज्ञान नही था..

इसलिए जैसे ही अजय ने अपनी जीभ निकाल कर उसकी चूत के उपर लगाया, पूजा के हाथों ने बड़ी ही बेदर्दी से उसके बालों को पकड़कर अपनी चूत पर उसके पूरे मुँह को रगड़ डाला..

और ये सब वो सपनो की दुनिया में रहकर अपने प्यारे जीजू अजय के साथ कर रही थी...जो बारिश और कीचड़ में भीगकर उसकी दोनो टॅंगो के बीच आ पहुँचा था और उसकी चूत को किसी कुत्ते की तरह चाट रहा था.

अजय ने उपर से बरस रहे पानी से उसकी छूट को नहलाया और सॉफ किया और फिर अपना मुँह लगा दिया उसकी गीली चूत पर...



ठंडा पानी बरस रहा था फिर भी उसकी चूत किसी भट्टी की तरह तप रही थी.

अजय की गर्म जीभ उस आग को और भड़का रही थी.

और इधर अजय को तो जैसे कोई खजाना मिल गया था..

जिस चूत को चाटने के सपने वो शाम को देख रहा था वो इतनी जल्दी उसे चाटने को मिल जाएगी ये उसने सोचा भी नही था...कुँवारी चूत की महक अलग ही होती है...इसलिए अजय अपना पूरा मुँह खोलकर उसकी पूरी की पूरी चूत को अंदर निगल गया और फिर चाटने लगा...बीच-२ में वो ऊपर उठकर उसके मुम्मे भी चूस रहा था 





और अपने सपने में अपने जीजू से चूत को चुसवा रही पूजा तो मस्ती से सराबोर होकर अपना रस निकालने लगी...

''आआआआआआआआआआअहह एसस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स जीजू ................. उम्म्म्ममममममममममम ... ऐसे ही . ............... कुत्ते की तरहा छातो.................. ...आहह....जैसे दीदी की चाट रहे थे ................. अब उनकी बहन की चूसो .....................अहह ...... ऊऊऊऊऊऊऊहह मेरे प्यारे जीजू ........... ....एसस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स ..... आई एम कमिंग .................... जीजू ...... ऑश जीजू ...... उफफफ्फ़ जीजू ...................''



और इसके साथ ही उसने चम्मच भरकर शहद अपनी चूत से निकाल फेंका...जिसे अजय की लपलपाति जीभ ने बूँद-2 करके पी लिया....

और झड़ने के साथ ही पूजा की कमर कमान की तरह टेडी होती चली गयी....सिर्फ़ उसके पैर और सिर ही बेड पर रह गया...बाकी का पूरा शरीर उपर हवा में उठ गया...

अजय वहीँ नीचे बैठा रह गया...और वो पूजा की चूत को धीरे-2 किसी अंतरिक्ष यान की तरह उपर जाते हुए देखता रहा...

और अपने चरम पर पहुँचकर पूजा ने अपने अंदर की वो आख़िरी बूँद भी बाहर निकाल दी जो उसके ऑर्गॅज़म को इस ऊंचाई तक ले आई थी.

और वो बूँद गाड़े रस की लकीर बनकर नीचे गयी...और सीधा अजय के खुले हुए मुँह में आ गिरी.



और जिस तरह से पूजा की चूत का यान उपर गया था, ठीक उसी अंदाज में फिर से एक बार वो नीचे आने लगा...और अजय के चेहरे के सामने पहुँचकर उसने लेंड़ किया.

अजय के हाथ भी अपने लंड पर बुरी तरह से चल रहे थे,और जैसे ही पूजा की चूत वापिस उसके सामने आई, उसका गुलाबीपन देखकर उसके लंड ने अपना रस उगलना शुरू कर दिया, और वहीं बेड अजय ने अपना सारा रस गिरा दिया 

और अजय एक बार फिर से उसकी चूत पर टूट पड़ा...

और उधर अपने सपने में बुरी तरह से झड़ने के बाद अजय जिस तरह से उन झाड़ियों में से निकल कर आया था, उन्ही में वापिस रेंगता चला गया...और पीछे छोड़ गया पूजा के नंगे शरीर को...बारिश की बूँदो के नीचे...

पर अजय के चले जाने के बाद भी उसकी चूत पर होंठों का उसका एहसास उसे चौंका गया और यही वो वक़्त था जब किसी अनहोनी की आशंका के साथ उसने अपनी आँखे खोल दी.

और जैसे ही अपनी टाँगो के बीच उसकी नज़रें गयी,अजय को वहाँ मुँह मारता हुआ देखकर उसके होश ही उड़ गये.
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय 65 10,666 Yesterday, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) 105 27,034 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post:
Thumbs Up kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ 50 44,737 03-22-2020, 01:45 PM
Last Post:
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी 86 85,516 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें 25 16,103 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 224 1,057,951 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post:
Lightbulb Behan Sex Kahani मेरी प्यारी दीदी 44 94,282 03-11-2020, 10:43 AM
Last Post:
Star Incest Kahani पापा की दुलारी जवान बेटियाँ 226 724,196 03-09-2020, 05:23 PM
Last Post:
Thumbs Up XXX Sex Kahani रंडी की मुहब्बत 55 49,008 03-07-2020, 10:14 AM
Last Post:
Star Incest Sex Kahani रिश्तो पर कालिख 144 127,524 03-04-2020, 10:54 AM
Last Post:



Users browsing this thread: 6 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


kajol agerwal sexy photo matesar creation bollywoodsxin nude photossexbaba pressing bobstelugu kotha sexstoresBollywood zaira wasim actress nudexxx picsdisha vahani hot sax photosShrenu parikh sexbabanetSusmita sen xxxfota xxxxxDebinaBonnerjeeबेटे ने मा का धके बलात्कार किया घर कोई था सेक्स स्टोरी फ्रीनगी नहती की sax अछरा सिह बादरूम की सकस फोटोxxxmotde.bur.chudae.potoxxxganaybhynkrpri ki bhynkr chodai xnxsexy video Anu bhabhi ke Paniya wali chut Marne wali auratFliz hindi bara utarosexvidaomom10 इंच राज शरमा चुदाई कहानीwww.muje fudi ka pani nilana nhi bta kya kruDukan dar sy chud gyi xxx sex story3sex chalne waleअमृता प्रकाश क्सक्सक्स फोटोजMa bete ki chudai story rajsharmaपिछे से दालने वाला सेकस बिडियोलवड़ा कैसे उगंली कैसे घुसायbabita ji nude sex baba photosBahu xxxxx bf 234 hinadi Desi haweli chuodai kaKanchi yumstoriesसामूहिक चुड़ै चुड़क्कड़ चुत वाली लड़कियां गलियां नंगी फोटोजनगीँ सकसी फिलमnovel jasusi sex baba net khaniफिल्मी actar chut भूमि सेक्स तस्वीर nikedमाँ उसकी बहिण कि चुत का समारोहkabita x south Indian haoswaif new videos sexहारामी बेटे का हारामी लावडा RajsharmaNaha guragain foking xxx videohot sexy bhabhi ka liya naap big neval.ka kissaGaram chai web series downloadtv.actress.megha,.chkarbarti.xxx.photos.hdYoni ki havas kaise budhai jay kahanibides beti baba sex videomeera deosthale nude picsKarisma sex ass hole pic sexbabachudakd paribar xosip raj sarmawww.hindisexstory.rajsarmaphoto रुकुल चुदाई के देखेBur ko chut chut ko bhoshna kaisha banayaSyxsi.kytrina.kyef.ka.nippalAmma officelo ranku dengudu storieswww antarvasnasexstories com category incest page 25sex baba.com page15/Thread-kamvasna-%E0%A4%A6%E0%A5%8B%E0%A4%B9%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A4%BC%E0%A4%BF%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A4%97%E0%A5%80?page=2XnxxVidhwa Sadiसेक्सी वीडयो सील तोड़ी कँवारीXX video English mein chudai karte hue Kisan nikalte Hue dikhaiyexxxtube desi E0 A4 94 E0 A4 B0 E0 A4 82 E0 A4 97 E0 A4 BE E0 A4 AC E0 A4 BE E0 A4 A6 E0 A4 9A E0 A5xnxx 2019PhotuWWW XXXCOKAJAसेxxx फोटोsabana nudu photoगांडू लड़के का चूची मिश्रा pornMeenakshi Seshadri nude gif sex babameri chut me beti ki chut scssring kahani hindiदूध दबाने से कैसे जोस चडता हjo ladki ke Raste per gadi per baith Jaati Hai Uska rape karte hain usko dikhaiyeAntarvasna बहन को चुदते करते पकड़ा और मौका मिलते ही उसकी चूत रगड़ दियाrachana.banarjee.ku.raj.chakrabaty.xxx.sexy.porn.videobabasexchudaikahaniIndian Sex Bazar Marathi Storissexbabakahaniपैर चोडे कर के चुदीAishwarya Rai Sexbaba.netpooja hegde imgfy.net resentमौनी रॉय चुत लडजबर्दस्तमाल की चुदाईलङकीयो की सेकशी चुत फोटौमई मज़बूरी में बूर छुडवा ली खानीBur.m.land.bahd.kar.chudi.ke.belu.felam.dekaomaa ko toilet m lejakr chodaRani Mukrje ke chut ma lund ka photo Sexburi me pelo sekashchuchi se bur chodnekavideothakur ki haweli sex story by sexbaba.netह अपनी मा को अपनी गोद मे अपने खड़े लंड पर जैसे ही बिठाता है लॉन्ग सेक्स स्टोरीज फोटो नीकालते नीकालते sex storyDesi kahani-kishan bete ne maa ko sari uttha kar mutte khet me dekh lund masalne laga hindi kahaniKriti sonon ke chodae vala pothomalaika arora nangiAnuska shetty nedu photo zoompriya anand imagessexswati bhabi nangi sexy zhawazhavi imageWww.indian.fucking.doowali.downlood video com heroine