Indian Sex Story परिवार हो तो ऐसा
09-20-2018, 02:25 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
परिवार हो तो ऐसा-46


गतान्क से आगे...............

मोहन अपनी पत्नी नेहा से नेहा चलो हमे भी पॅकिंग करनी है ओर उठ कर अपने कमरे मे चला जाता है.


हां यही ठीक रहेगा आप चलो मैं किचन का काम निबटा कर आती हूँ.. नेहा ने कहा.


मैं भी पॅकिंग सुरू कर देती हूँ. दी क्या आप मेरी मदद करेंगी स्वीटी ने शमा से कहा.


हां ज़रूर शमा से जवाब दिया ऑर दोनो उठ कर स्वीटी के कमरे में चली गये.


कमरे में आकर दोनो पॅकिंग सुरू कर देती हैं


दी आप भी हमारे साथ चलो ना बड़ा मज़ा आएगा स्वीटी ने शमा से एक बार फिर कहा.


नही स्वीटी मैं नही आ सकती शमा ने जवाब दिया.


पर मैं तुम्हे बहुत मिस करूँगी. शमा ने आगे कहा.


मैं आपको बहुत मिस करूँगी स्वीटी ने कहा ओर शमा की एक चुचि टॉप के उप्पेर से दबा दी.


शमा ने भी आगे बढ़ कर स्वीटी को गले लगा लिया और दोनो एक दूसरे की कमर को सहलाने लगी.


थोड़ी ही देर में दोनो गरम हो गयी. तभी स्वीटी ने सर पीछे करते हुए अपने होत शमा के होंठो पर रख कर चूसने लगी.


शमा भी स्वीटी का पूरा साथ से रही थी दोनो ने कब एक दूसरे के कपड़े उतार दिए पता ही नही चला.


स्वीटी ने 69 पोज़िशन लेते हुए शमा की चूत को चूसना सुरू किया साथ ही अपना हाथ आगे बढ़ा कर शमा के सर को अपनी चूत पर दबा दिया.


शमा ने भी स्वीटी की चूत को चूसना सुरू कर दिया.


दोनो एक दूसरे की सफ़ा चट चूत को बड़े चाव से चूस रही थी.


हाआँ ऐसे ही चूसू बाअदाअ माअजाआा आ रहा है. अपना मुँह शमा की चूत से हटा कर हानफते हुए स्वीटी ने लगभग चिल्लाते हुए कहा.


शमा भी और जोश के साथ स्वीटी की चूत को चूसने लगी.


थोड़ी ही देर में स्वीटी चूत से ढेर सारा रस छूट पड़ा जिसे शमा चट चट कर साफ कर दिया.


स्वीटी ने थोड़ी देर बाद शमा की चूत को चूस कर उसका पानी छुड़ा दिया और दोनो निढाल होकेर सो गयी.



मैं इतने दिन आपके बिना कैसे रहूंगी कमरे में आते ही नेहा ने अपने पति मोहन से पूछा.


क्या करे मजबूरी है और इतना बड़ा बिज़्नेस टूर है इसको मैं मिस नही करना चाहता मोहन ने बेड से उठते हुए जवाब दिया.


जानू मुझे तुम्हारी बहुत याद आएगी कहकर मोहन ने नेहा को अपनी बाँहो मे भर लिया.


नेहा भी आगे बढ़ कर मोहन की बाँहो मे समा गयी.


मुझे भी तुम्हारी बहुत याद आएगी नेहा ने कहा ओर मोहन के होंठो पर अपने हॉट रख के चोसने लगी.


मोहन भी नेहा का पूरा साथ दे रहा था और एक दम से अपनी जीभ नेहा के मुँह मे घुसा दी जिसे नेहा बड़े चाव से चूसने लगी.


किस के दोरान मोहन नेहा की कमर को सहला रहा था जिससे नेहा की उत्तेजना लगातार बढ़ती जा रही थी.


अब रहा नही जाता नेहा ने किस ब्रेक करते हुए कहा और मोहन की शर्ट के बटन खोलने लगी.


मोहन भी नेहा के कपड़े उतारने मे मदद करने लगा.


थोड़ी ही देर मे दोनो ने एक दूसरे को नंगा कर दिया.


नेहा ने नीचे बैठ कर मोहन के लंड को अपने मुँह मे ले जोरो से चूसने लगी.


मोहन भी नेहा के सर को पकड़ के धक्के लगाते हुए नेहा के मुँह को चोद्ने लगा.


कभी कभी तो लंड पूरा का पूरा मुँह मे चला जाता जिससे नेहा को बहुत तकलीफ़ भी हो जाती थी पर नेहा ने लंड चूसना बंद नही किया.


“और ज़ोर से हाआँ ऐसे ही चूसो मेरे लंड को मोहन ने धक्को की स्पीड को बढ़ाते हुए कहा.


दस मिनट की चुसाइ में ही मोहन के लंड ने नेहा के मुँह में पानी छोड़ दिया.


नेहा भी सारा का सारा पानी पी गयी साथ साथ लंड को चूसना भी जारी रक्खा.


नेहा ने लंड को चूस चूस कर साफ किया और बेड पर लेट गयी.


मोहन भी बेड पर आकेर नेहा की टाँगो के बीच आ गया ओर नेहा चूत पर मुँह रख कर चूसने लगा.


नेहा की चूत पहले से ही गीली हो चुकी थी उसकी चूत से भी पानी बह रहा था.


नेहा भी मोहन के बालो में हाथ फिराते हुए उसके सर को अपनी चूत पर दबाने लगी.


जिससे मोहन जोश में आ गया और तेज़ी से चूत को चूसने लगा.


थोड़ी ही देर में नेहा की उत्तेजना चरम पर पहुँच गयी और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. नेहा कुछ सेकेंड के लिए बिल्कुल निढाल हो गयी.


मोहन ने भी नेहा की चूत को चाट कर साफ किया और नेहा के बगल मे आकेर लेट गया.


नेहा ने उठकर मोहन को किस किया और मोहन के लंड को हाथ मे लेकर सहलाने लगी.


थोड़ी ही देर मे मोहन ले लंड मे उत्तेजना आने लगी.
-  - 
Reply

09-20-2018, 02:25 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
नेहा नीचे होते हुए लंड को पाने मुँह मे ले चूसने लगी.


मोहन नेहा के सर को पकड़ उसके सर को अपने लंड पर तेज़ी से दबाने लगा.


कुछ देर बाद लंड को चूसने के बाद नेहा मोहन के उप्पेर आ गयी और लंड पर बैठते हुए लंड को पूरा अपनी चूत मे समा लिया.


मोहन ने नेहा की कमर को पकड़ कर उसे उप्पेर नीचे कर चोद्ने लगा.


नेहा ने आगे झुकते हुए मोहन के होंठो को चूसने लगी साथ ही साथ लंड पर तेज़ी से उप्पेर नीचे होने लगी.


मोहन भी नेहा का पूरा साथ दे रहा था और नीचे से धक्के लगा रहा था और एक हाथ से नेहा की कमर को सहला रहा था, दूसरे हाथ की उंगलियों को नेहा की आस पर फिरा रहा था.


नेहा भी ओर तेज़ी के साथ धक्के लगाने लगी उसकी उत्तेजना जल्दी ही चरम पर पहुँच गयी और उसकी चूत ने एक बार फिर पानी छोड़ दिया.


नेहा के झाड़ते ही मोहन ने नेहा करवट से लेते हुए लिटाया और खुद नेहा के उपर आ गया साथ ही ये ध्यान भी रक्खा कि लंड चूत से बाहर निकलने ना पाए ये सब कुछ ही सेकेंड के अंदर हुआ.


मोहन पोज़िशन ने लेते ही धक्के लगाने सुरू किए और अपने हाथो से उसकी चूचियों को सहलाने लगा, भीचने लगा.


मोहन धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ाता जा रहा था बढ़ाता जा रहा था.


नेहा ने अपने पैरो को मोहन की कमर पर मोड़ते हुए जाकड़ लिए और लंड के धक्को को अंदर तक महसूस करने लगी.


दोनो बहुत थक चुके थे पर कोई भी रुकने का नाम नही ले रहा था.


दोनो की उत्तेजना चरम पर थी कि तभी दोनो एक साथ झाड़ गये ओर सो गये.


दो दिन बाद मोहन, राज, प्रीति ऑर स्वीटी चारो लंडन के लिए रवाना हो गये. कुछ घंटों के सफ़र के बाद चारो एरपोर्ट पर उतरे वहाँ से एक टॅक्सी मैं होटेल 41 के लिए रवाना हुवे.


अबौट होटेल 41 लंडन : होटेल 41 इस फाउंड ओं बकिंगहॅम पॅलेस रोड, मीनिंग गेस्ट्स अरे वर्चूयली नेक्स्ट डोर टू दा क्वीन'स रेसिडेन्स.


ये लग्षुरी होटेल मोहन ने बुक किया था यहाँ आने से पहले जिसने एक लग्षुरी सूट 2 रूम वाला प्रीटी ओर स्वीटी के लिए ओर एक एक सूट अपने ओर राज के लिए बुक किए थे.


होटेल पहुँचने पर सब ने चेक इन किया और अपने अपने कमरे मे आ गये. प्रीति ऑर स्वीटी जिस सूट मे थी उसके बरबेर वाले रूम में मोहन और मोहन के सामने वाले रूम राज ठहरा था. 3नो ही कमरे बहुत ही अच्छे से डेकरेट किए हुए थे. तमाम सुविधाए उनमे उपलब्ध थी.


अपने कमरों में आकेर सभी फ्रेश होने के लिए चले गये.

थोड़ी देर बाद मोहन ने ब्रेकफास्ट को ऑर्डर किया जो स्वीटी ओर प्रीति के रूम में माँगाया था. सभी ने एक साथ ब्रेकफास्ट किया सभी के चेहरो पर सफ़र की थकावट सॉफ झलक रही थी.



नाश्ता करने के बाद चारो अपने अपने कमरे में आकेर आराम करने लगे.


शाम को सभी इकट्ठा हुए आज शाम का क्या प्रोग्राम है चाच्चा जी. प्रीति ने मोहन से पूछा.


मैं और राज बिज़्नेस एग्ज़िक्युटिव से मिलने जा रहे हैं एक छोटा सा गेट टुगेदर है तुम दोनो चाहो तो यहाँ आराम कर सकती हो या फिर कहीं घूमना चाहो तो घूम सकते हो किसी डिस्को क्लब में जाना चाहो या कहीं और तुम जा सकती. मोहन ने जवाब दिया.


या फिर हमारे साथ आना चाहो तो आ सकती राज ने कहा.


मेरे ख़याल से यही ठीक रहेगा प्रीति ने कहा तुम क्या कहती हो स्वीटी .


जैसा तुम चाहो जहाँ चाहो ले चलो स्वीटी ने कहा.


तो ठीक है हम भी आप दोनो के साथ चलेंगी प्रीति ने कहा.


थोड़ी ही देर चारो तैय्यार होकेर उस जगह के लिए निकल पड़े जहाँ मीटिंग होनी थी थोड़ी ही देर में सब वहाँ पहुँच गये.


जैसे ही चारो ने अंदर प्रवेश किया तो देखा वहाँ बहुत सारे लोग पहले से ही जमा थे सभी एक दूसरे से मिल रहे थे पहचान बढ़ा रहे थे कुछ अकेले थे कुछ कुछ कपल्स थे कोई अपनी वाइफ के साथ आया था कोई गर्ल फ्रेंड के साथ.कुछ जोड़े बहुत ही खूबसूरत थे कुछ आफ्रिकन्स भी थे.


राज और मोहन भी सबसे घुलने मिलने का यत्न करने लगे. हाई हेलो करने लगे. प्रीति और स्वीटी भी हाई हेलो करने लगी.
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
तभी राज ने देखा कि एक कपल उसकी ओर ही आ रहा है आते ही हॅंडशेक किया राज भी गरम्जोशी के साथ उनसे मिला और आपस में बातें करने लगे एक दूसरे का इंट्रोडक्षन किया.


हाई आइ आम राज – राज ने कहा और अपना हाथ बढ़ाया.

हेलो आइ म माइक & दिस ईज़ माइ ग/फ डाइना.

हेलो राज नाइस टू मीट यू डाइना ने कहा.

सेम हियर राज ने जवाब दिया.

कम वित मी आइ वॉंट 2 मीट यू वित माइ फॅमिली(मेरे साथ आओ मैं आपको अपनी फॅमिली से मिलाता हूँ) राज ने कहा.


राज उनको लेकर मोहन, प्रीति ओर स्वीटी के पास गया और उनसे परिचय कराया.


प्रीति की आँखे इस हॅंडसम कपल को देखकर चमक उठी वही चमक स्वीटी की आँखो में राज ने देखी.


बातो ही बातो में पता चला कि माइक & डाइना भी उसी होटेल में ठहरे है जिसमे वी चारो ठहरे है. राज ने माइक से उसका रूम नंबर पूछा माइक ने बता दिया राज ने अपना, मोहन चाच्चा का, और प्रीति & स्वीटी का रूम नंबर भी बता दिया जो पास पास ही थे. ऐसे ही सब बाते करते रहे और दूसरे लोगों से भी मिलते रहे फिर सबने एक साथ डिन्नर किया और होटेल के लिए निकल पड़े साथ में माइक और डाइना भी थे कुछ ही देर में सब होटेल पहुँचे और अपने अपने रूम में जाकर आराम करने लगे.


पार्टी में कितने हॅंडसम हॅंडसम लोग थे मैं तो कब से उत्तेजित हो रही थी सबको देख कर प्रीति ने स्वीटी से कहा और अपना टॉप उतार दिया. मेरा भी हाल तुम्हारे जैसे ही स्वेती ने जवाब दिया. अरे तुनहरी चूत तो बहुत गीली हो रहे रही प्रीति ने स्वीटी की पॅंटी में हाथ डालते हुए कहा. हां क्योंकि इसे अब लंड सख़्त ज़रूरत है स्वीटी ने कहा. तो क्यूँ हम राज को बुला लें और मज़ेकर. नही अगर पापा को पता चल गया तो. अरे कुछ नही होगा और वैसे भी तुम मेरे और अंकल के बारे में तो जानती ही हो प्रीति ने कहा.



बात तो सही है और मैने भी तुमसे कुछ छिपाया है स्वीटी ने कहा. क्या छुपाया है प्रीति ने पूछा. यही कि मैने और पापा ने चुदाई की है स्वीटी ने जवाब दिया क्या!! तुम तो छुपी रुस्तम निकली और मुझे अब बता रही हो अब तो डरने की कोई ज़रूरत ही नही है प्रीति ने कहा. तुमने ये सब कब और कैसे किया प्रीति ने पूछा. फिर स्वीटी ने प्रीति को वो सब बताया जो मोहन और स्वीटी के बीच हुआ. स्वीटी की बात सुनकर प्रीति उत्तेजित हो गयी और स्वीटी से कहा तो एक काम करते हैं तुम राज के कमरे जाओ और एंजाय करो राज भी तुम्हे देख कर खुश हो जाएगा और मैं अंकल के कमरे में जाती हूँ उन्हे सर्प्राइज़ करती हूँ क्योंकि मुझसे अब बर्दास्त नही हो रहा है.


फिर दोनो कमरे से निकली और स्वीटी राज के कमरे में और प्रीति मोहन के कमरे जाने के लिए डोर पर दस्तक दी. दुस्तक सुनते ही मोहन ने दरवाजा खोला और सामने प्रीति को देखकर सर्प्राइज़ होते हुए पूछा तुम यहाँ स्वीटी कहाँ है. बताती हूँ पहले अंदर तो आने दो प्रीति ने कहा. था हां आओ और प्रीति कमरे में आ जाती है और मोहन भी डोर लॉक करके प्रीति के पास आता है फिर से पूछता है स्वीटी सो गयी क्या. क्यूँ स्वीटी की बड़ी याद आ रही क्या मुझमे अब इंटेरेस्ट नही रहा जो स्वीटी को याद कर रहे हो प्रीति ने मोहन को लगभग चिढ़ाने के अंदाज में कहा. ये तुम क्या कह रही तुम्हे होश तो है मोहन ने कहा. बस बस ज़्यादा बनने की कॉसिश मत करो मुझे सब मालूम है स्वीटी और मेरे बीच कोई भी बात छुपी नही है प्रीति नेकहा. ये सुनकर मोहन चोंक गया और प्रीति से पूछा क्या तुम्हे सब पता है पर कैसे. मुझे खुद स्वीटी ने बताया है प्रीति ने जबाब दिया और उठकर मोहन के होठों को किस करने लगी.

क्रमशः....................
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
परिवार हो तो ऐसा-47


गतान्क से आगे...............

मोहन अब कुछ पूछने की स्थिति में नही था वो भी प्रीति का पूरा साथ दोनो किस में पूरी तरह खो गये थे. मोहन के हाथ अब हरकत में आ गये और प्रीति के सरीर पर रेंगने लगे. प्रीति भी अपना एक हाथ नीचे ले जाकर लोवर के उप्पेर से मोहन के लंड को पकड़ कर सहलाने लगी. अपने लंड पर प्रीति के हाथ का स्पर्श पाकेर मोहन भी उत्तेजना से भर गया उसके लंड ने एक से सलामी ठोकी और लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया. कुछ देर बाद दोनो अलग हुए और एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे कुछ ही सेकेंड में दोनो के कपने फर्श पर पड़े थे दोनो एक दूसरे को फिर से चूमने लगे.


तो आपने कहानी को सच कर दिया अपनी बेटी को चोद कर प्रीति ने अपना मुँह पीछे हटाते हुए मोहन से पूछा. मैने कुछ नही किया ये सब अचानक ही हो गया. मोहन ने जवाब दिया. आपको मज़ा आया ना अपनी बेटी के साथ प्रीति ने पूछा. पहले तो कुछ समझ नही आया पर बाद में बहुत मज़ा आया और सच कहूँ तो तुम दोनो दुनिया की सबसे हॉट गर्ल हो मोहन ने कहा. स्वीटी को पता है तुम मेरे साथ हो मोहन ने पूछा.


हां उसे पता है और वो भी मज़े कर रही है इस वक्त प्रीति ने कहा. अकेले अकेले ही मोहन ने पूछा. कभी अकेले में भी मज़ा आता है प्रीति ने कहा और मोहन के लंड को अपने मुँह मे चूसने लगी. आ ओह ऐसे ही हां आआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआहह हूऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊ ऊऊऊओह हह आआआआआआआआआआआआआआहह जब तुम लंड चुस्ती हो तो बड़ा मज़ा आता है मोहन ने उत्तेजना में कहा. प्रीति और भी तेज तेज लंड को चूसने लगी साथ ही साथ अपने हाथो से मोहन के अंडकोसो को भी सहलाने लगी.


मोहन की उत्तेजना बढ़ती जा रही थी जब उसे लगा की अब उसका पानी छूटने वाला है तो उसने प्रीति के सर को पकड़ कर पीछे हटा दिया और बेड पर सीधा लेट गया मोहन का लंड अपनी पूरी अकड़ने के साथ छत की ओर ताक रहा था. प्रीति मोहन के अप्पर आ गयी और अपने आपको मोहन के लंड पर अड्जस्ट किया प्रीति की चूत पहले से ही बहुत गीली थी लंड बड़े आराम से उसमे घुस गया और अंदर समाता चला गया. प्रीति ने धीरे धीरे धक्के लगाने सुरू किए मोहन भी प्रीति का पूरा साथ दे रहा था दोनो आपस में ताल मिला रहे पाँच मिनूट ऐसे ही चुदते रहने के कारण प्रीति झाड़ गयी और एक दम से साइड में होकर लेट गयी मोहन का लंड अभी भी पूरा तना हुआ था मोहन उठा और प्रीति की टाँगो के बीच आ गया और अपने लंड को प्रीति की चूत पर सेट किया एक जोरदार धक्का लगाया लंड एक ही झटके में पूरा अंदर चला गया. मोहन ने प्रीति की दोनो टाँगो को अपने कंधो पर रक्खा और धक्के लगाने लगा इस पोज़िशन में मोहन का लंड पूरा प्रीति की चूत में आ जा रहा था मोहन ने धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ानी सुरू की और कुछ ही देर में पूरी स्पीड के साथ प्रीति को चोद्ने लगा प्रीति एक बार फिर झड़ने के करीब पहुच गयी और मोहन को झुककर उसे किस करने लगी साथ ही मोहन के बालों को अपने हाथो से सहलाने लगी.


और तेज हां ऐसे ही तेज तेज धक्के लगाते रहो बहुत मज़ा आ रहा है और तेज उत्तेजना में प्रीति बड़बड़ाए जा रही थी. मोहन भी पूरी स्पीड के साथ धक्के लगा रहा था कुछ ही धक्को के बाद प्रीति झाड़ गयी पर मोहन अभी भी धक्के लगा रहा था वो अभी झड़ने के मूड में नही था मोहन ने प्रीति की टाँगो को अपने कंधो से उतारा औ फिर से तेज धक्को के साथ प्रीति को चोद्ने लगा. क्या बात है चाच्चा जी आज तो पूरे मूड में हो मेरा दो बार पानी निकलवा चुके हो और अभी भी लगे हुए हो कहीं आपको स्वीटी की याद तो नही आ रही है प्रीति ने मोहन की आँखो में देखते हुए कहा. तुमने बताया नही स्वीटी कैसे मज़े ले रही है मोहन ने पूछा. ऐसे ही जैसे मैं आपके साथ ले रही हू वैसे ही स्वीटी राज के साथ उसके कमरे में मज़े ले रही प्रीति ने जवाब दिया.


क्या राज के साथ तुम ऐसा कैसे कर सकती हो वो भी अपने भाई के साथ साथ एक पल लिए मोहन रुक गया और शॉक्ड होते हुए प्रीति से पूछा. ज़्यादा शॉक्ड होने की ज़रूरत नही है वैसे भी जब हम अपने पापा से चुद सकती है तो अपने भाई से क्यूँ नही प्रीति ने कहा. इस बात का मोहन के पास कोई जवाब नही था और उसने फिर से धक्के लगाने सुरू किए और प्रीति से पूछा ये सब हुआ कैसे. फिर प्रीति ने मोहन को सब कुछ बता दिया अपने और स्वीटी & राज के बारे में(प्रीति ने शमा के बारे में नही बताया उसने सोचा जब वक्त आएगा तो बता देगी फिलहाल इस बात को गुप्त रक्खा जाए ये ही सही रहेगा). प्रीति की बात सुनने के बाद मोहन थोड़ा हैरान हुआ और फिर रिलॅक्स होते हुए प्रीति को किस किया फिर बोला चलो एक बात तो अच्छी है है के तुम दोनो को लंड के लिए कहीं बाहर नही जाना पड़ा उसका इंतज़ाम अपने घर में ही हो गया और जब चाहे तुम चुद सकती हो. तो क्या आप हम दोनो को एक साथ चोदना चाहोगे प्रीति ने मोहन से पूछा. क्या इसके लिए स्वीटी तय्यार होगी मोहन ने पूछा. आप उसकी चिंता मत करो वो सब मेरे उप्पेर छोड़ दो मैं सब संभाल लूँगी प्रीति ने कहा. ओके जैसा तुम ठीक समझो मोहन ने कहा और फिर से धक्के लगाने लगा और थोड़ी ही देर में आआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआआहह हूऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊ ऊऊऊओह हह ई आम कूम्म्म्मममममममममममममममममममममममिंन्ननननननननननगगगगगगगगग गगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगगग आआआआआआआआआआआआआआहह हह ऊऊऊऊऊऊओह पूरा कमरा उत्तेजक चीखो में गूंजने लगा और दोनो साथ साथ झाड़ गये.



झड़ने के बाद मोहन प्रीति के उपेर से हट कर उसके साथ में ही लेट गया.दोनो की साँसें उखड़ी हुई थी दोनो पूरी तरह से थक चुके थे और लेट कर आराम करने लेगे. आज सच में बहुत मज़ा आया कुछ बाद मोहन ने कहा. हां मुझे भी बहुत मज़ा आया आपने तो आज मेरी जान ही निकाल दी प्रीति ने अपनी सांसो को संभालते हुए कहा. और दोनो फिर से एक दूसरे को सहलाने लगे.


राज अपने कमरे में बैठा टीवी देख रहा और साथ ही अपने लंड को बाहर निकाल सहला रहा थे जैसे ही राज ने दरवाजे पर दस्तक सुनी उसने अपने लंड को अपनी शॉर्ट में किया और दरवाजे को खोलने गया. सामने स्वीटी को देख कर एक बार तो राज शॉक हो गया फिर नॉर्मल होते हुए स्वीटी से कहा तो तुम्हे मेरी याद आ ही गयी. पहले अंदर तो आने दो बाद मे ताना मारना स्वीटी ने कहा और अंदर जाकर बेड पर बैठ गयी. प्रीति नही आई मैं तो सोच रहा था कि तुम दोनो आओगी मेरे पास राज ने कहा. प्रीति नही आई वो पापा के कमरे मे गयी है स्वीटी ने जवाब दिया. क्या कहा वो चाच्चजी के कमरे में वहाँ क्या कर रही है वो राज ने चोन्क्ने का नाटक करते हुए कहा(वैसे राज को पता था के प्रीति वहाँ क्या करने गयी है राज को प्रीति और चाच्चजी के बारे में भी पहले से ही पता था). ज़्यादा नाटक करने की ज़रूरत नही तुम्हे पता है वो और पापा इस वक्त क्या कर रहे है स्वीटी ने आगे बढ़कर राज के शॉर्ट को उतार दिया और उसके लंड को सहलाने लगी.
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
थोड़ी ही देर में राज का लंड रोड की तरह खड़ा हो गया जिसे स्वीटी ने अपने मुँह मे लिया और चूसने लगी. "ऑश हाआँ चूवसो मेरी स्वीटी श कितना अच्छा लग रहा है... तुम्हारा मुँह कितना कोमल है.. "ओह हां आशीए ही चूसो श हां और ज़ोर ज़ोर से ऑश ऑश" राज सिसकने लगा.राज स्वीटी की चुचियों से खेल रहा था. राज ने उसके चुचियों को चूमते हुए स्वीटी का टॉप उतार दिया और चुचियों के आज़ाद होते ही अपना मुँह उन पर रख उन्हे चूसने लगा...स्वीटी ने उसे अपने से अलग करते हुए नंगा होने को कहा... जिससे वो उसके लंड को अच्छी तरह चूस सके. राज ने अपने कपड़े उतार दिए और मदरजात नंगा हो गया... और वापस पलंग पर बैठ गया... स्वीटी उसके सामने उसकी टाँगो के बीच बैठ गयी और उसके लंड को अपनी मुट्ठी मे कस उसके सुपादे को चूसने लगी...जब वो अपनी जीब को उसके लंड के नाज़ुक स्थानो पर फिराती तो राज का बदन काँप उठता.. वो उत्तेजना मे उसके निपल को भींचने लगा... राज ने उसे खड़े हो जाने को कहा... स्वीटी राज के सामने सिर्फ़ शॉर्ट्स पहने खड़ी हो गयी.


राज ने उसकी दोनो चुचियों को अपने एक एक हाथ से पकड़ा और बारी बारी उन पर अपनी जीब फिराने लगा.... फिर नीचे खिसकते हुए उसने उसके नंगे पेट को चूमा और अपनी जीब उसकी नाभि मे घुसा गोल गोल घूमाने लगा.... फिर अपनी उंगलियाँ उसकी शॉर्ट्स मे फँसा उन्हे नीचे खिसकने लगा...शॉर्ट्स के नीचे खिसकते ही उसकी गुलाबी रंग की पॅंटी से धकि चूत

नज़र आने लगी...उसने देखा कि उसकी पॅंटी का आगे का हिस्सा चूत से रस से गीला हो चुका था... उसने अपनी जीब पॅंटी के किनारे पर रख चूत के बाहरी हिस्से को चाटने लगा.... फिर उसकी पॅंटी को नीचे खिसका दीए और अपनी जीब उसकी तराशे हुए बालों पर चलाने लगा..कि

तभी स्वीटी नीचे बैठ कर एक बार फिर उसके लंड को चूसने लगी.. फिर वो उठ कर पलंग पर लेट गयी और अपनी टाँगे फैला उसे अपने उपर खींच लिया... राज ने अपना हाथ नीचे किया और उसकी चूत को फैलाते हुए अपनी उंगली अंदर घूसा दी.. "हां राज फैला दो अच्छी तरह मेरी चूत को "


राज ने अपनी दो उंगली स्वीटी की चूत मे घूसा रखी थी.. फिर उसने तीसरी उंगली भी घुसा दी... और उसकी चूत को फैलाते हुए अंदर बाहर करने लगा... "हां राज अब चोदो मुझे अपनी इस भारी लंड से... आज फाड़ दो मेरी चूत को और जम को चोदो इसे.. बहुत प्यासी है ये तुम्हारे लंड के लिए..." इसे आज फाड़ ही देना.


ये सुनते ही राज ने स्वीटी को डॉगी स्टाइल में किया और खुद उसके पीछे आकेर लंड को उसकी चूत पर सेट किया और एक ही झटके में लंड स्वीटी की चूत में डाल दिया और चोद्ने लगा. स्वीटी भी राज का पूरा साथ दे रही और खुद पीछ हट हट कर राज के लंड को जितना हो सके उतना अंदर लेने की कॉसिश कर रही. राज स्वीटी दोनो पूरी तरह से मदहोश हो गये थे इस पोज़िशन में 10 मिनूट तक चोद्ने के बाद राज ने अपना लंड स्वीटी चूत से निकाला और स्वीटी को पीठ के बल लेटा दिया फिर राज स्वीटी की टाँगो को फैलाकर उनके बीच आ गया और अपने लंड को स्वीटी की चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाते हुए लंड को पूरा का पूरा अंदर घुसा दिया एक फिर से स्वीटी की जोरदार चुदाई सुरू हो गयी. राज अब ज़ोर ज़ोर के धक्के मार स्वीटी को चोद रहा था.."हां राज ऐसे ही कस के चोदो ...ऑश हां और ज़ोर ज़ोर से चोदो...ओह घुसा दो अपना पूरा लंड मेरी चूत मे " स्वीटी अपनी आँखे बंद किए सिसक रही थी..स्वीटी सिशाक़ रही साथ ही वो राज के बालों में अपनी उंगलिया फिरा रही थोड़ी ही देर में उसका शरीर अकड़ने लगा जब राज को लगा कि स्वीटी झड़ने वाली है तो राज ने अपनी स्पीड को और बढ़ा दिया और तेज तेज धक्को से चोद्ने लगा. 'ओह हां ओह और ज़ोर से ओ हाँ और ज़ोर से चोदो ओह.. मेरा तो छूटाआआ." और वो झाड़ गयी... स्वीटी की सिसक्रियाँ सुन राज ने अपने लंड को जितना हो सकता था अंदर घुसा अपना पानी छोड़ दिया...दोनो झड़कर निढाल होकेर पड़ गये.



प्रीति मोहन के लंड के साथ खेल रही पर उसके मन में कुछ और भी चल रहा था...... उसके शैतानी भरे दिमाग़ ने कुछ देर सोचा फिर वो मोहन से बोलती है अंक्ल्जी अब आप जानते ही है कि मैं, स्वीटी और राज आपस में चुदाई कर चुके हैं तो क्यूँ ना हम सब एक साथ......प्रीति ने वाक्य को अधूरा छोड़ दिया. मोहन बिल्कुल चॉक्ड होते हुए तुम ऐसा कैसे सोच सकती हो के मैं अपने भतीजे के सामने तुम्हे या स्वीटी को चोदुन्गा. ओ कम ऑन जानू क्या मेरे लिए आप ऐसा नही कर सकते प्रीति ने कहा. क्या राज इसके लिए तय्यार होगा मोहन ने सवाल किया. ये सब आप मुझपे और स्वीटी पर छोड़ दो और आइ थिंक स्वीटी ने अब तक राज को सब बता दिया होगा. प्रीति ने जवाब दिया. अगर राज को कोई ऐतराज नही है तो मुझे भी कोई प्राब्लम नही आख़िर मैं भी तो देखूं राज तुम दोनो को कैसे चोद्ता है मोहन ने हस्ते हुआ कहा. आइ एम शुवर आपको देख कर बहुत मज़ा आएगा क्योंकि मुझे ल्गता है कि राज का लंड हमारे पूरे परिवार सबसे बड़ा है प्रीति ने मोहन की तरफ आँख मारते हुए कहा. मोहन भी प्रीति की बात सुनकर सिर्फ़ मुस्कुरा दिया.


प्रीति अब सोच रही थी कि अब उसकी दो लंड एक साथ खाने की खुवाहिश जल्दी ही पूरी हो जाएगी.(ये बात काफ़ी देर से प्रीति के मन में चल रही थी). प्रीति ने मोहन के लंड मुँह में ले चूसना सुरू किया जिससे उसमे उत्तेजना पैदा होने लगी और थोड़ी ही देर में वो पूरी तरह अकड़कर एक रोड की तरह हो गया जिसे प्रीति बड़े ही चाव के साथ चूस रही थी . मोहन ने प्रीति के सर को पकड़ रक्खा था और उसके सर को उपेर नीचे कर रहा था एक तरह से मोहन प्रीति के मुँह को चोद रहा था. प्रीति अब ज़ोर ज़ोर से लंड को चूसने लगी साथ ही साथ अपने एक हाथ से मोहन के अंडकोसो को भी सहला रही थी. जब मोहन को लगा कि वो अब झड़ने वाला है तो उसने प्रीति के सर को पीछे हटा दिया और अपने लंड को प्रीति के मुँह से बाहर निकाल दिया. और प्रीति को डॉगी स्टाइल में किया (जो मोहन की पसंदीदा पोज़िशन थी) और खुद उसके पीछे आकर लंड को प्रीति की चूत पर सेट किया और धक्का लगा दिया लंड फ़च्छक की आवाज़ के साथ चूत में आधा घुस गया. मोहन ने एक और तेज धक्का लगाया और अपने लंड को पूरा का पूरा प्रीति की चूत में घुसा दिया. प्रीति भी पूरे मूड में थी वह मोहन का पूरा साथ दे रही और अपने हिप्स को पीछे की ओर धकेलने की कोसिस कर रही थी जिससे मोहन का लंड अधिक से अधिक उसकी चूत में जा सके.


मोहन ने अब अपनी स्पीड को और भी बढ़ा दिया और तेज तेज धक्को से प्रीति को चोद्ने लगा. प्रीति को भी पूरा मज़ा आ रहा था मोहन ने अपने हाथ आगे बढ़ाकर प्रीति की चूचियों पर रख दिए और उन्हे मसलने लगा जिससे प्रीति की उत्तेजना और भी बढ़ गयी और वो बड़बड़ाने लगी “हां ऐसे ही कस के चोदो ...ऑश हां और ज़ोर ज़ोर से चोदो...ओह घुसा दो अपना पूरा लंड मेरी चूत मे आज फाड़ डालो मेरी चूत को भुर्ता बना दो इसका बहुत आग लगी है इसमे .... और ज़ोर से हाअ ऐसे ही चोदते रहो आआआआआआआआआआआआआआ हह हह हूऊऊऊऊऊ हह उूुुुुुुुुुउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ “ और थोड़ी ही देर में वो झार झार झड़ने लगी और अपने सर को तकिये में रख कर गहरी गहरी साँसें लेगे लगी मोहन ने जब देखा कि प्रीति झाड़ चुकी है तो मोहन ने धक्के लगाने बंद किए और अपने लंड को बाहर निकाल लिया और उसकी चूत में अपनी दो उंगलिया डाल कर बाहर निकाल ली और प्रीति की गंद में घुसा दी प्रीति की चूत रस से भीगी उंगलिया एक झटके के साथ जब प्रीति की गंद में घुसी तो प्रीति के शरीर में सनसनी फैल फ़ाई उसके शरीर में एक बार फिर उत्तेजना फील होने लगी प्रीति ने अपने सर को उठाकर मोहन की तरफ कामुक नज़रों से देखा और मुस्कुरा दी मोहन भी प्रीति की ओर देख कर मुस्कुरा दिया और एक बार फिर अपनी उंगलियों को उसकी चूत में डाल कर बाहर निकाला और फिर प्रीति की गंद में डाल कर अंदर बाहर करने लगा. मोहन की उंगलियाँ बड़े आराम से प्रीति की गंद आ जा रही थी जिससे मोहन को ये पता चल गया कि प्रीति ने पहले भी अपनी गंद मराई है. ये देखते ही मोहन के लंड ने झटका मारा मोहन ने अपने लंड को प्रीति की गंद पर सेट किया और अंदर घुसा दिया.
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
आआआआआआआआआआआआआहह हह आहिस्ताआआआआआआआआआआआआआ प्रीति ने लगभग चिल्लाते हुए कहा. ओह सॉरी डियर और मोहन रुक गया और अपने हाथ से प्रीति के हिप्स को सहलाने लगा. मोहन ने फिर एक धक्का मारा और लंड प्रीति की गंद में पूरा घुसा दिया प्रीति फिर चिल्ला पड़ी आआआआआआआआआआआआआहह हह उूुुुुुुुुुउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ आहिस्ताआआआआआआआआआआआआआ से करो ना चाचू. मोहन प्रीति के मे मुँह से शिसकियाँ सुनकर और भी जोश में आ गया और अपने लंड को थोड़ा बाहर निकाला और फिर से एक धक्का लगा दिया ये मोहन ने फिर से किया और प्रीति को ऐसे ही चोद्ने लगा. प्रीति चिल्लाती रही(प्रीति चिल्लाने का नाटक कर रही थी असल में प्रीति को अपनी गंद मरवाने में भी बहुत मज़ा आ रहा था और उसने सोच लिया था कि वो कल ही दो लंड एक साथ अपनी चूत और गंद में लेगी) और मोहन चोद्ता रहा. प्रीति ने भी मोहन का जोश बढ़ाने के लिए बाड़ बड़ना शूरू कर दिया हां ऐसे ही कस के चोदो ...ओ हां और ज़ोर ज़ोर से चोदो...ओह घुसा दो अपना पूरा लंड मेरी गंद मे आज फाड़ डालो मेरी गंद को .... और ज़ोर से हाआँ ऐसे ही चोदते रहो फाड़ डालो मेरी गंद को.


आआआआआआआआआआआआआआहह हूऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊहह हहिईीईईईईईईईईईईईईईईई ईईईईईईईईईईईईईई....... साथ ही साथ प्रीति अपने हाथो से पॅनिक हूट को रगड़ रही थी ऐसे करने से उसकी चूत दोबारा झड़ने के करीब पहुँच गयी थी. मोहन भी पूरे जोश में आ गया और अपने धक्को की स्पीड को और तेज कर दिया मोहन अब झड़ने के करीब था और थोड़ी ही देर में मोहन के लंड ने झड़ना सूरू किया और तभी प्रीति भी झड़ने लगी मोहन ने अपना सारा रस प्ऱीति की गंद में ही छोड़ दिया. झड़ने के बाद मोहन का लंड अपने आप प्रीति की गंद से बाहर आ गया और मोहन प्रीति के बगल में लेट गये दोनो ऐसे ही लिपट कर सो गये.......



उधर राज और स्वीटी के बीच दूसरी चुदाई चल रही थी स्वीटी ने राज को 4सम के लिए राज़ी कर लिया था और वैसे भी राज ऐसा पहले भी कर चुक्का था (अपने कज़िन्स के साथ) राज ने स्वीटी को डॉगी स्टाइल में किया हुआ था और स्वीटी को पीछे से चोदे जा रहा था . स्वीटी भी राज का पूरा साथ दे रही और खुद पीछ हट हट कर राज के लंड को जितना हो सके उतना अंदर लेने की कॉसिश कर रही थी . राज स्वीटी दोनो पूरी तरह से मदहोश हो गये थे . राज अब ज़ोर ज़ोर के धक्के मार स्वीटी को चोद रहा था.."हां राज ऐसे ही कस के चोद्दूऊऊओ ...ऑश हां और ज़ोर ज़ोर से चोदो...ओह घुसा दो अपना पूरा लंड मेरी चूत मे " स्वीटी अपनी आँखे बंद किए सिसक रही थी..स्वीटी सिसक रही थी साथ ही वो राज के बालों में अपनी उंगलिया फिरा रहीथी थोड़ी ही देर में उसका शरीर अकड़ने लगा जब राज को लगा कि स्वीटी झड़ने वाली है तो राज ने अपनी स्पीड को और बढ़ा दिया और तेज तेज धक्को से चोद्ने लगा. 'ओह हां ओह और ज़ोर से श हाँ और ज़ोर से चोदो ओह.. मेरा तो छूताअ." और वो झाड़ गयी... स्वीटी की सिसक्रियाँ सुन राज ने अपने लंड को जितना हो सकता था अंदर घुसा अपना पानी छोड़ दिया...और दोनो एक दूसरे से लिपट कर सो गये......

क्रमशः....................
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
परिवार हो तो ऐसा-48


गतान्क से आगे...............


सुबह चारो एक साथ ब्रेकफास्ट ले रहे थे कोई भी रात के बारे में बात नही कर रहा था. आज का क्या प्रोग्राम है अंकल प्रीति ने अचानक से मोहन से पूछा. मैं और राज मीटिंग अटेंड करने जा रहे हैं तुम दोनो शॉपिंग कर सकती हो मोहन ने कहा. ये ठीक रहेगा क्यूँ प्रीति स्वीटी ने कहा. हां मैं भी यही सोच रही थी प्रीति ने कहा. नाश्ता करने के बाद राज और मोहन मीटिंग के लिए निकल पड़े ओके प्रीति & स्वीटी शाम को मिलते है मोहन ने प्रीति की ओर आँख मारते हुए कहा जिसे राज ने देख लिया था. राज भी ये देख कर मुस्कुरा दिया फिर दोनो मीटिंग के लिए निकल गये.


स्वीटी और प्रीति भी शॉपिंग पे जाने के लिए रेडी होने लगी. तय्यार होकर दोनो जैसे ही बाहर निकली उन्हे डाइना दिखाई दी. डाइना ने भी उन्हे देखा और हाई बोली. प्रीति और स्वीटी ने भी हाई हेलो की और बताया कि वो शॉपिंग के लिए जा रहे हैं. ओके एंजाय युवरसेल्फ डाइना ने कहा और एक टॅक्सी पकड़ कर चली गयी. प्रीति ने भी एक टॅक्सी रुकवाई दोनो उसमे बैठकर शॉपिंग के लिए निकल गयी. दोनो ने सबके लिए ढेर सारी शॉपिंग की और दोनो ने बाहर ही लंच किया फिर शॉपिंग के बाद दोनो होटेल वापस आ गयी. शॉपिंग करते वक्त ही दोनो ने ये तय कर लिया था कि आज चारो एक साथ सोएंगे.


होटेल पहुँच कर दोनो ने सारा समान रक्खा और थोड़ा आराम करने लगी. थोड़ी देर आराम करने के बाद प्रीति ने स्वीटी से कहा मैं शवर लेने जा रही हूँ क्या तुम मेरे साथ आना चाहोगी. नेकी और पूछ पूछ क्यो नही वैसे भी हमे ईक साथ नहाए बहुत दिन हो गये है स्वीटी ने अपना टॉप वहीं उतारते हुए कहा. लगता है भाय्या ने रात तुम्हे अच्छे से नही चोदा प्रीति ने स्वीटी के पास आते हुए कहा. मत पूछ प्रीति रात तो मेरी जान ही निकाल दी राज ने पता उसने रात मेरी गंद भी मारी. अब तक दुख रही है स्वीटी ने कहा. ओ हो मैं तो समझती थी कि तुम्हारी गंद अभी तक कुँवारी है पर सच बताना तुम्हे मज़ा आया या नही प्रीति ने पूछा. सुरू में बहुत दर्द हुआ पर बाद सच में मज़ा आया और मुझे लगता है अब हफ्ते में एक बार मैं अपनी गंद ज़रूर मराउंगी स्वीटी ने कहा और हासणे लगी.


तब तक दोनो ने अपने कपड़े निकाल दिए और दोनो बाथरूम में घुस गयी. प्रीति ने शवर ऑन किया और स्वीटी को अपने पास खीच कर उसे किस करने लगी. स्वीटी भी प्रीति का पूरा साथ दे रही थी दो के हाथ एक दूसरे के शरीर पर रेंग रहे थे शवर ऑन होने से दोनो पूरी तरह से भीग चुकी थी. स्वीटी ने हाथ बढ़ाकर शवर बंद किया और फिर से दोनो किस में खो गयी. ऐसा दोनो पहले भी कयी बार कर चुकी हैं. ऐसा नही है कि दोनो लेज़्बीयन है पर दोनो को एक दूसरे सेक्स करने में भी अलग ही मज़ा आता है और जब भी मोका मिलता है तो दोनो उसका पूरा फयडा उठाती हैं.


किस करते करते प्रीति के हाथ स्वीटी की चूचियों पर पहुँच गये और मसल्ने लगी. स्वीटी को इस समय असीम आनंद आ रहा था और दोनो ने किस ब्रेक की अब स्वीटी ने अपने होठ प्रीति की चूचियों पर रख दिए और चूसना सुरू किया.



प्रीति स्वीटी के सर को अपने हाथो से पकड़ कर अपनी चूचियों पर दबा रही थी स्वीटी भी बड़े चाव से प्रीति की चूचियों को चूस रही थी. स्वीटी ने अपना एक हाथ आगे बढ़ाकर प्रीति की चूत पर रख दिया और सहलाने लगी. स्वीटी का हाथ अपनी चूत पर पाकेर प्रीति सिहर उठी उत्तेजना की एक तेज लहर उसके पूरे शरीर में दौड़ गयी.स्वीटी मुझसे अब खड़ा नही हुआ जा रहा है ऐसा करते हैं बेडरूम में चलते हैं बाद में नहा लेंगे. हूँ तुम ठीक कहती हो स्वीटी अपना सर प्रीति की चूचियों पर से उठाते हुए कहा और दोनो बाथरूम से बाहर आ गयी.


प्रीति आते ही बेड पर लेट गयी और स्वीटी फिर से प्रीति की चूचियों को चूसने लगी. चूचिया चूसने के कुछ देर बाद स्वीटी ने अपना मुँह नीचे ले जाते हुए प्रीति की सफच्छात चूत पर रख दिया और चूसने लगी साथ अपने हाथ ही दो उंगलिया प्रीति की चूत में डाल कर अंदर बाहर करने लगी. प्रीति को इस समय असीम आनंद आ रहा था उसकी उत्तेजना चरम पर पहुँच गयी थी. प्रीति ने अपने हाथो से स्वीटी के सर को पकड़ कर अपनी चूत पर पूरी तरह से दबा दिया था. स्वीटी ने अपने हाथ की स्पीड को और भी तेज कर दिया और अपनी जीभ को भी अंदर डाल डाल कर चूस रहीथी स्वीटी को भी इसमे पूरा मज़ा आ रहा था. "ओह हां आशीए ही चूसो श हां और ज़ोर ज़ोर से ऑश ऑश "ऑश स्वीटी हाआँ ऐसे ही चूसो ऑश हां चॅटो और ज़ोर ज़ोर से चूसो... ओह कितना अच्छा लग रहा है... हां चूस लो सारा रस मेरी चूत का आअज" प्रीति सिसकने लगी. "हां स्वीटी हां चूसो मेरी चूत को आज जी भर के चूसो बहुत आग लगी है इस चूत मे हां चूस" प्रीति बड़बड़ा उठी और झाड़ गयी. प्रीति गहरी गहरी साँसें ले रही थी स्वीटी भी उठकर प्रीति के बगल में लेट गयी.
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:26 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
प्रीति घहरी घहरी साँसें ले रही थी अपनी धड़कनो को नॉर्मल होने करने की कॉसिश कर रही थी. स्वीटी भी प्रीति के पास ही उसे सात कर लेट गयी और अपने हाथ अपनी चूचियों पर रख कर सहलाने लगी साथ ही एक हाथ अपनी चूत पर रख कर उसे उपेर उपेर से ही सहलाने लगी. इतनी देर से प्रीति की चूत चाटने की वजह से उसकी खुद की चूत गीली हो गयी वह खुद पूरी उत्तेजित हो गयी थी. थोड़ी देर बाद प्रीति उठी और स्वीटी के उपर आ गयी और दोनो एक दूसरे को फिर से किस करने लगी. धीरे धीरे प्रीति के हाथ स्वीटी के कंधो से होते हुए स्वीटी की चूचियों पर आ गये और प्रीति ने स्वीटी के निपल अपनी दो उंगलियों मे पकड़ उन्हे धीरे धीरे दबाना सुरू किया. स्वीटी को इस समय एक असीम आनंद की अनुभूती हो रही थी कभी कभी प्रीति उसके निपल को ज़ोर से दबा देती तो दर्द की एक लहर सी उसके पूरे शरीर में दौड़ जाती. स्वीटी की सिसकारियाँ दोनो की किस करने के कारण अंदर ही अंदर दब जाती. कुछ देर और किस करने के बाद प्रीति थोड़ा नीचे होती है और उसकी एक चूची को अपने मुँह मे ले चूसने लगती है.


स्वीटी को प्रीति का चूची चूसना अच्छा लग रहा था स्वीटी ने अपने हाथो को प्रीति के सर पर रख उसके सर को सहलाना सुरू कर दिया. प्रीति को भी चूची चूसने मे मज़ा आ रहा था वह बारी बारी से दोनो चूचियों को चूस रही थी साथ ही अपने हाथों से उन्हे सहला भी रही रही थी. स्वीटी उत्तेजना में कभी कभी प्रीति के सर को अपनी चूचियों पर दबा देती और फिर उसके सर को सहलाने लगती. दोनो लड़कियाँ दीन दुनिया से बेख़बर के दूसरे की मस्ती में खोई हुई असीम आनंद ले रही थी. स्वीटी की चूचियों को थोड़ी सेर और चूसने के बाद प्रीति थोड़ा नीचे होती है और स्वीटी के नाभिप्रदेस को किस करने लगती है सहलाने लगती है. प्रीति के ऐसा करने पर स्वेटी को गुदगुदी होने लगती है वह प्रीति के सर को पकड़ थोड़ा नीचे करती है और अपनी चूत पर दबा देती है. प्रीति का मुँह सीधा स्वीटी की चूत पर उसकी क्लाइटॉरिस पर लगा प्रीति के होंठ वहीं जम गये और चूसना चाटना सुरू हो गया. स्वीटी के शरीर में एक सिहरन दौड़ गयी उसके हाथों ने प्रीति के सर को अपनी चूत पर दबा दिया. प्रीति बड़े चाव के साथ स्वीटी की चूत को चूस रही थी. प्रीति ने अपना हाथ स्वीटी की चूत पर रक्खा और अपनी एक उंगली स्वीटी की चूत में थोड़ी घुस गयी.


प्रीति ने अपनी दो उंगलियों को स्वीटी की चूत में घुसा दिया और आगे पीछे करने लगी साथ ही उसकी क्लिट को भी चूसे जा रही थी. स्वीटी की उत्तेजना इस समय चरम पर पहुँच गयी थी वह बड़बड़ा उठी “श हां चूवसो और ज़ोर से चूसो ऑश हाँ खा जा मेरी चूत को में कब से तड़प रही थी ऑश" "ऑश हाआँ ऑश जबसे घर छोड़ा में इस एहसास के लिए तरस गयी.. ऑश हाआँ चॅटो मेरी चूत को ऑश चूवसो...अपनी उंगलियाँ और तेज़ी अंदर बाहर करो बहुत अच्छा लग रहा है ऐसे ही करती रहो”....... "ओह हाआँ ऐसे ही ऑश हाां" स्वीटी ने अपनी टाँगे हवा मे उठा दी और अपनी चूत को और प्रीति के मुँह पर दबा दी... उसकी चूत मे तो जैसे और आग सी लग गयी थी... और स्वीटी चरम पर पहुँच गयी. प्रीति ने भी अपने हाथ की स्पीड बढ़ा दी और तेज़ी के साथ अपनी उंगलियाँ अंदर बाहर करने लगी कुछ ही सेकेंड्स में स्वीटी एक जोरदार चीख के साथ झाड़ गयी उसका पूरा शरीर कांप उठा वो झार झार झड़ती जा रही रही थी. प्रीति का हाथ बिना रुके अपनी गति से अंदर बाहर हो रहा था. जब प्रीति को लगा की स्वीटी पूरी तरह से झाड़ गयी तो वा उठ गयी और स्वीटी के साथ ही उसकी बगल में लेट कर आराम करने लगी.



स्वीटी एक बात कहूँ तुम बुरा तो नही मनोगी कुछ देर बाद प्रीति ने स्वीटी से कहा. अगर बुरा मानने वाली बात हुई तो ज़रूर बुरा मानूँगी स्वीटी ने कहा. अरे ये तो मज़ा करने वाली बात है नकी बुरा मानने वाली प्रीति ने कहा. पहले बात तो बताओ फिर डिसाइड होगा कि इसको किस तरह से लेना है स्वीटी ने कहा. तुम्हे पता है हम अपने घर अपने देश से इतनी दूर आए हैं तो मैं सोच रही थी कि क्यो ना कुछ अलग सा किया जाए क्या पता हमे फिर ऐसा मोका मिले ना मिले. मैं इस मोके का पूरा फयडा उठना चाहती हूँ पूरा मज़ा लेना चाहती हूँ. प्रीति ने कहा. हम यहाँ मज़े ही तो कर रहे हैं तुम रात भर मेरे डॅडी के साथ चुदाई करा चुकी हो और अभी अभी हमने सेक्स का खेल खेला है और तुम अब कोन्से मज़े की बात कर रही हो सॉफ सॉफ कहो तुम कहना क्या चाहती हो स्वीटी ने प्रीति की बात से हैरान होते हुए कहा. मैं ये कहना चाहती हूँ कि हमने अभी तक अपने घरवालो से ही चुदाई की है तो मैं सोच रही थी क्यूँ बाहर भी ट्राइ किया जाए और.... प्रीति ने वाक्य अधूरा छोड़ते हुए कहा. क्या .... तुम्हारा दिमाग़ तो खराब नही हो गया है... ये तुम कैसी बाते कर रही हो ... स्वीटी ने शॉक्ड होते हुए हैरानी से लगभग चिल्लाते हुए कहा. मैने तो पहले ही कहा था कि मेरी बात का बुरा मत मानना और तुम हो मेरे उपर चिल्ला रही हो मैं तो बस यही कहना चाहती हूँ कि अपने परिवार से अलग किसी दूसरे मर्द के लंड का अहसास कैसा होता है इसको ट्राइ करने में क्या जाता है प्रीति ने खुलकर अपनी बात स्वीटी को बता दी. नही मैं इसमे तुम्हारा साथ नही दे सकती ऐसा मैं कभी नही कर सकती स्वीटी ने कहा. और कमरे में एक शान्ती सी च्छा गयी दोनो बिल्कुल शांत हो गयी........


मेरी बहुत दिनो से एक खुवहिस थी कि मैं दो तीन लंड से एक साथ चुदाई करूँ मैं फील करना चाहती हूँ कि एक साथ तीन लंड से चुद्ने पर कैसा लगता है क्या अहसास होता है जब एक लंड चूत मैं एक गांद में और एक मुँह में हो........... थोड़ी देर शांत रहने के बाद प्रीति ने अपने दिल की बात कही. तुम पूरी रंडी बन चुकी हो चुद चुद कर तुम्हे पता भी है तुम क्या बोल रही हो अगर किसी को पता चल गया तो पता है क्या होगा स्वीटी ने कहा. हां हां जैसे तुम तो बड़ी सती सावित्री हो ना अपने चचेरे भाई से चुदवा चुकी हो अपने डॅडी से चुद चुकी हो फिर भी तुम ऐसी बातें कर रही हो अरे मैं तो सिर्फ़ एंजाय करने की बात कह रही हूँ और ऐसा मोका फिर नही मिलेगा प्रीति ने कहा. अगर राज को पता चल गया तो स्वीटी ने थोड़ा चिंतित होते हुए कहा. वो मेरा भाई है और मुझे इस बात का पूरा यकीन है के वो मुझे किसी भी बात के लिए मना नही करेगा चाहे वो बात किसी दूसरे से चुदवाने की ही क्यों ना हो प्रीति ने पूरे विस्वास के साथ स्वीटी की बात का जवाब दिया. प्रीति क्या तुम्हे सच में लगता है कि तुम जो करने जा रही हो सही है अगर ये बात बाहर फैल गयी तो सोचो कितनी बदनामी होगी स्वीटी ने फिर आशंकित होते हुए कहा.


तुम उसकी चिंता मत करो और फिर ज़रा सोचो हम एक अजनबी देश में मैं हैं यहाँ हमे देखने वाला है ही कॉन और हम ये किसी इंडियन के साथ नही करेंगे वो तो कोई विदेशी ही होंगे जिसके साथ ये सब कर सकते हैं सोचो उसके कितना मज़ा आएगा प्रीति के एग्ज़ाइटेड होते हुए कहा. फिर भी प्रीति तुम एक बार ठंडे दीमाग से सोच लो स्वीटी ने फिर अपनी शंका जाहिर की. स्वीटी मैं तो पूरी तरह ठान चुकी हूँ के जब चुदना ही है और मज़े लेने ही हैं तो फिर सोचना क्या मैं तो उस पल का बेसब्री से इंतजार कर रही हूँ प्रीति ने उत्तेजित होकेर कहा. तो तुम नही मानने वाली ठीक है जो भी करना पूरी तरह सोच समझ कर करना स्वीटी ने अपनी रज़ामंदी देते हुए कहा.(अंदर ही अंदर स्वीटी भी चाह रही थी कुछ नया करने को पर थोड़ा डर रही थी या डरने का नाटक कर रही थी). वो तो मैं करूँगी ही पर इसमे तुम्हे मेरा साथ देना होगा फिर देखना हमे कैसे मज़े करते हैं प्रीति ने खुश होते हुए कहा. ठीक है बाबा मैं सोचूँगी इस बारे में स्वीटी ने कहा. अब इसमे सोचने वाली कोन्सि बात है तुम खम्खा ऐसे ही डर रही हो डर क्या रही हो डरने का नाटक कर रही मुझे भी पता है कि तुम्हारी चूत में भी उतनी ही आग लगी है जितनी कि मेरी चूत मैं इसको अब जल्द से जल्द बुझाना ही पड़ेगा प्रीति ने हस्ते हुए कहा. अच्छा बाबा ठीक मैं तय्यार हूँ वैसे ये करना कब है स्वीटी ने पूछा. ये हुई ना बात अब देखना मैं क्या करती हूँ और कैसे हम मज़े करते हैं और दोनो खिलखिलाकर हंस पड़ी...
-  - 
Reply
09-20-2018, 02:27 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
शाम को डोर पर दस्तक होने से प्रीति की आँख खुलती है तो देखती है कि वो और स्वीटी दोनो सेक्स क्रिया करने के बाद नंगी ही सो गयी थी. प्रीति ने जल्दी से शर्ट्स और टशहिर्त पहनी और स्वीटी के उपर एक चादर डाली और डोर खोलने चल दी. जैसे ही डोर खोला सामने राज को खड़ा पाया है राज प्रीति ने कहा और राज से पूछा तुम कब आए? हाई मैं बस अभी आया हूँ राज ने जवाब दिया और अंदर आ गया. स्वीटी कहाँ है राज ने पूछा. आक्चुयली हम दोनो सो रही थी डोर पर दस्तक होने पर मेरी आँख खुल गयी और स्वीटी अभी भी सो रही है प्रीति ने कहा. राज स्वीटी के पास बेड पर जाकर बैठ जाता है. प्रीति भी वहीं आ जाती है. राज तुम कॉफी का ऑर्डर देदो मेरा सर दर्द कर रहा है भारी भारी सा हो रहा है प्रीति ने राज से कहा और बेड पर बैठ जाती है.



राज कॉफी ऑर्डर और स्नॅक्स ऑर्डर करता है और स्वीटी को उठाने के लिए उसके उपर पड़ी चादर को उतार देता है. जैसे ही चादर उतरती है सामने स्वीटी को नंगी हालत में देख राज एक बार तो चोंक जाता है फिर प्रीति की ओर देखता है और दोनो खिलखिला कर हंस पड़ते हैं. दोनो की आवाज़ को सुनकर स्वीटी की नींद भी टूट जाती है और राज और प्रीति को हंसता हुआ देख कर उठके बैठती है और पूछती है तुम दोनो क्यों हंस रहे हो. प्रीति आँखो ही आँखो में स्वीटी की ओर इसरा करती है. स्वीटी को जब अपने नंगे होने का अहसास होता है वो भी उनके साथ हँसने लगती है और चादर से अपने शरीर क्ल ढक लेती है राज चादर को पकड़ के खींच देता है तीनो फिर से हँसने लगते है. तभी डोर पर दस्तक होती है राज दरवाजा खोलने जाता है स्वीटी उठ कर अपने कपड़े लेकर वॉशरूम में घुस जाती है.



वेटर कॉफी ओर स्ननक्स देता है और चला जाता है. स्वीटी भी वॉशरूम से बाहर आती है ओर पूछती है कॉन था फिर सामने कॉफी ट्रे देखती है ओर बोलती है अच्छा हुआ जो कॉफी ऑर्डर कर दी मेरा सर दर्द कर रहा है. क्या बात है आज तुम दोनो का सर क्यों दर्द कर रहा है राज दोनो से पूछता है. तब प्रीति राज को दोनो के बीच हुए सेक्स के खेल के बारे में बता देती है. तो तुम दोनो को अब मेरी की ज़रूरत नही है राज ने कहा और मुस्कुराने लगता है. राज को मुस्कुराता देख स्वीटी ओर प्रीति भी मुस्कुरा देती हैं और तीनो कॉफी का आनंद उठाते हुए बाते करते है.



डॅडी कहाँ हैं……. स्वीटी ने राज से पूछा? वो अपने एक बिज़्नेस फ्रेंड के साथ गये हैं कल आ जाएँगे…….. राज ने कहा. हाउ नाइस इससे अच्छा मोका नही मिलेग प्रीति……..स्वीटी ने कहा. कैसा मोका तुम क्या करना चाहती हो……… राज ने पूछा? तब स्वीटी राज को सब बता देती है और चुप हो जाती है कुछ देर के लिए कमरे में शांति च्छा जाती है.............. राज अपनी जगह से उठता है और प्रीति के पास आकर उसके होठों पर किस करता है फिर बोलता है आइ लव यू प्रीति….मी टू प्रीति कहती है. प्रीति तुम नही जानती तुम क्या करने जा रही हो… आइ मीन मैं बहुत दिनो से तुमसे एक बात कहना चाह रहा था… पर कह नही पाया कहीं तुम बुरा ना मान जाओ…. पर आज जब स्वीटी ने बताया तो एक बार मुझे अपने कानो पर विस्वास नही हुआ पर ये रियल है मेरी बहुत पुरानी फॅंटेसी पूरी होने वाली है राज ने कहा.


कॉन सी फॅंटेसी की बात कर रहे हो प्रीति और स्वीटी ने एक साथ पूछा. मेरी एक फॅंटेसी है कि मेरी बेहन का गंगबॅंग मेरी आँखो के सामने हो और मैं भी शामिल रहूं और एंजाय करूँ तुम तीन-3 लंडो से एक साथ चुदाई कराओ और एंजाय करो……. राज ने अपने दिल की बात कह दी. तुमने तो डरा ही दिया था राज…… प्रीति ने कहा मैं पता नही क्या-2 सोच रही थी कि कहीं तुम नाराज़ तो नही हो जाओगे सबसे ज़्यादा डर तो स्वीटी को लग रहा था..क्यूँ स्वीटी…. प्रीति ने कहा. हां ये सच है राज मैं तो सच में बहुत डरी हुई थी कि कहीं तुम……स्वीटी ने वाक्य अधूरा ही छोड़ दिया….. वैसे एक बात है तुम दोनो हो एक दम चुड़क्कड़… और खिलखिला कर हंस पड़ी. राज और प्रीति भी स्वीटी की बात सुनकर मुस्कुराए बिना ना रह सके.



राज तुम अपनी ये खुवहिस मुझे पहले भी बता सकते थे कुछ देर बाद प्रीति ने राज से कहा. बता तो सकता था पर मैं डरता था कि कहीं तुम बुरा ना मान जाओ मैं तुम्हे किसी भी कीमत पर खोना नही चाहता था….राज ने कहा. तुम्हे पता है राज मैं तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकती हूँ एक बार कह के देखते प्रीति ने भावुक होते हुए कहा. अभी ज़्यादा देर नही हुई है तुम दोनो की खुवहिस भी एक जैसी है तो जल्दी से इसे पूरा कर लो और मज़े करो…….स्वीटी ने कहा. वो तो हम करेंगे ही दोनो एक साथ बोले और खिलखिला कर हंस पड़े स्वीटी ही उनका साथ देने लगी……….. तो फिर ठीक है जल्दी से तय्यार हो जाओ हम तीनो आज शाम एक क्लब में चलते हैं जो पास में ही है मैं भी तय्यार होने जा रहा हूँ…….राज ने कहा और अपने रूम के लिए चल पड़ा. स्वीटी ने राज के बाहर जाने के बाद डोर बंद किया और अंदर आकेर चेंज करने लगी...


थोड़ी देर बाद तीनो(राज, प्रीति ओर स्वीटी) क्लब के लिए निकल पड़े जो होटेल के पास ही था. रात के लगभग 8 बजे थे तीनो क्लब में अंदर गये और कॉर्नर में एक टेबल पर जाकर बैठ गये. क्लब में काफ़ी सारे लड़के लड़किया थे कुछ कपल्स भी थे. राज उठकर ड्रिंक्स लेने चला गया. प्रीति ओर स्वीटी की नज़रे चारो और घूम रही थी उन्हे अपनी फॅंटेसी को पूरा करने के लिए कुछ लड़को की तलाश थी पर वहाँ देखकर ऐसा लग रहा था कि उनकी तमन्ना यहाँ पर पूरी नही होगी. राज ड्रिंक्स लेकेर वापस टेबल पर आ गया और तीनो ड्रिंक्स का मज़ा लेने लेने लगे. तुम्हे क्या लगता है राज जिसकी हमे तलाश है वो यहाँ मिल पाएँगे.....प्रीति ने राज पूछा. आइ होप सो मिल जाने चाहिए नही आज की रात मुझ से काम चलाना पड़ेगा तुम्हे ये कहकर राज हँसने लगा. बी सीरीयस राज ये कोई मज़ाक करने का समय नही है मुझे अपनी खुवहिस जल्दी जल्दी पूरी करनी है......... प्रीति ने थोड़ा गुस्सा होते हुए कहा. प्रीति बिल्कुल सही कह रही है राज जिस काम के लिए हम यहाँ आए हैं उसको पूरा करते हैं बाकी बातें बाद में भी तो हो सकती हैं.......स्वीटी ने कहा. ठीक है बाबा मैं कुछ करता हूँ पर मुझे यहाँ पर कोई भी ऐसा नही लग रहा जो हमारी विश पूरी कर सके......राज ने कहा. तब तक तीनो की ड्रिंक ख़त्म हो चुकी थी. कुछ देर बाद प्रीति और स्वीटी दूसरा ड्रिंक लेने गयी और दोनो ने ड्रिंक लिया और वापस राज के पास जाकर बैठ गयी. राज स्वीटी और प्रीति तीनो बैठे ड्रिंक का मज़ा ले रहे थे वहीं उनसे कुछ दूरी पर डॅन्स फ्लोर था जिस पर कुछ लोग डॅन्स कर रहे थे उनमे कुछ कपल्स थे तो कुछ अकेले ही अपनी मस्ती में झूम रहे .......


तभी दो लड़के उनकी ओर आते हुए दिखाई दिए वो अभी अभी उस क्लब में आए थे जिसका राज & कंपनी. को पता ही नही चला उनमे से एक जिसका नाम हेनरी था वो प्रीति के पास आता है और हाई बोलता है और अपना हाथ आगे बढ़ा देता है. प्रीति भी हेनरी को हाई कहती और अपना हाथ आगे बढ़ाते हुए हेनरी के हाथ में दे देती है. प्रीति का नर्म मुलायम हाथ अपने हाथ में पाकर हेनरी अंदर अंदर खुस होता है और झुकते हुए प्रीति के हाथ को चूम लेता है फिर राज की ओर हाथ बढ़ाता है हाई आइ एम हेनरी & दिस ईज़ माइ फ्रेंड जॉर्ज.

राज- आइ एम राज ...... नाइस टू मीट यू और जॉर्ज से भी हॅंडशेक करता है.

राज- दिस ईज़ माइ सिस्टर प्रीति & कज़िन स्वीटी.

हेनरी ऑर जॉर्ज स्वीटी ओर प्रीति से मिलते हैं और उनके साथ ही टेबल पर बैठ जाते हैं. थोड़ी देर इधर उधर की बाते करने के बाद हेनरी प्रीति को डॅन्स के लिए कहता है जिसके लिए प्रीति ख़ुसी ख़ुसी तय्यार हो जाती है ओर दोनो डॅन्स फ्लोर पर जाकर डॅन्स करने लगते है. ड्ज पर कोई रोमॅंटिक सॉंग बज रहा होता है डॅन्स फ्लोर पर मद्धम रोशनी फैली हुई थी जिसमे पूरी तरह साफ साफ नज़र आना मुस्किल था जिसके लिए पूरे ध्यान से देखना पड़ता.


कुछ देर बाद जॉर्ज भी स्वीटी को डॅन्स के लिए कहता है स्वीटी भी जॉर्ज के साथ डॅन्स करने लगती है. राज अकेला रह जाता ही और दोनो कपल्स को डॅन्स करते हुए देखता रहता है थोड़ी देर ध्यान से देखने पर राज को मालूम पड़ता है हेनरी और प्रीति के बीच बातचीत हो रही है साथ ही हेनरी का एक हाथ प्रीति की कमर से होते हुए उसकी आस तक जा रहा है उसे सहला रहा है. प्रीति भी इस पल का पूरा आनंद ले रही थी ये उसके फेस के एक्सप्रेशन से पता चल रहा था राज को पता चल गया था कि उसकी विश जल्दी ही पूरी होने वाली है. कुछ वैसा ही नज़ारा राज ने स्वीटी का भी देखा ..... जॉर्ज का एक हाथ स्वीटी की चूचियों को मसल रहा था दूसरा हाथ उसकी आस को सहला रहा था दोनो लड़किया विदेशी लंड की चुदाई को सोचकर ही गीली हो चुकी थी......


स्वीटी का एक हाथ जॉर्ज की पॅंट के उपेर से उसके लंड का जयजा ले रहा था. स्वीटी जॉर्ज के लंड की लंबाई महसूस कर एक बार के लिए तो सिहर उठी उसे लगा कि उसका लंड राज से भी बड़ा है वो सोच में पड़ गयी क्या उसे ये लंड ट्राइ करना चाहिए .......? क्या वो ये लंड झेल पाएगी.....? या उसकी चूत जॉर्ज के लंड से फॅट जाएगी.......? तरह तरह के ख़याल स्वीटी के मॅन में आ रहे थे वो हैरान भी थी और खुस भी उसकी समझ नही आ रहा था कि वो क्या करे.....


क्रमशः....................
-  - 
Reply

09-20-2018, 02:27 PM,
RE: Indian Sex Story वपरिवार हो तो ऐसा
परिवार हो तो ऐसा-49


गतान्क से आगे...............

वहीं दूसरी ओर प्रीति और हेनरी दोनो के दूसरे को किस कर रहे थे. हेनरी के हाथ प्रीति की कमर और आस पर रेंघ रहे थे. प्रीति ने अपनी बाहे हेनरी के गले में डाल रक्खी थी हेनरी के साथ वो किस में इस कदर खो गयी उसे पता ही नही के उसके आस पास क्या हो रहा है और वो कहाँ है. राज वहीं बैठा सब देख रहा था और आगे के प्लान के बारे में सोच रहा था............तभी स्वीटी और जॉर्ज आकेर राज के पास बैठ गये... राज उनसे आगे के बारे में बात करने लगा.


राज जॉर्ज से बात करने लगा....

राज – जॉर्ज आइ थिंक यू लाइक स्वीटी.(जॉर्ज तुम्हे स्वीटी पसंद आ गयी है ऐसा लगता है)

जॉर्ज (स्माइल करते हुए)– या... स्वीटी ईज़ आ वेरी हॉट गर्ल लाइक हर.(हां स्वीटी के बहुत हॉट लड़की है मुझे पसंद है)

राज- डू यू वॉंट टू सेक्स वित हर (क्या तुम उसके साथ सेक्स करना चाहते हो).

जॉर्ज(अस्चर्य से)- यस............... इफ़ शी अग्री फॉर दिस.

राज स्वीटी से – स्वीटी तुम क्या कहना चाहोगी क्या तुम भी जॉर्ज के साथ .....राज ने वाक्य अधूरा छोड़ दिया.

स्वीटी मुस्कुराते हुए- हां मैं भी जॉर्ज के साथ मस्ती(सेक्स) करना चाहती हूँ.

राज- जॉर्ज स्वीटी इस अग्री फॉर दिस शी ईज़ फक्किंग हॉट एंजाय हर & टियर हर पुसी.

जॉर्ज स्वीटी को अपनी ओर खींचते हुए उसके होंठो पर अपने होठ रख देता है और चूसने लगता है. स्वीटी भी जॉर्ज का पूरा साथ देने लगती है थोड़ी देर दोनो किस करते हैं फिर नॉर्मल होकेर बैठ जाते हैं..

राज- जॉर्ज वॉट अबाउट प्रीति & हेनरी.

जॉर्ज – आइ थिंक हेनरी लाइक दट हॉटी टू & वॉंट टू फक हार्ड आंड प्रीति ऑल्सो वॉंट हिम सी दट बिच हाउ शी रब्बिंग हेर हॅंड ऑन हिज़ डिक.

स्वीटी और राज जॉर्ज के मुँह से बिच सब्द सुनकर एकदम से चोंक जाते हैं लेकिन कोई भी ये अहसास नही होने देता. राज और स्वीटी वहीं बैठे बैठे प्रीति और हेनरी की ओर देखते हैं जो एक दूसरे को किस रहे होते हैं और प्रीति का हाथ हेनरी की पॅंट के उपेर से उसके लंड को मसल रहा था दोनो मस्ती में सराबोर हो चुके थे और पूरी तरह उत्तेजित थे.


राज – जॉर्ज वी हॅव ए फॅंटेसी ऑफ सेक्स इन ग्रूप डू यू अग्री फॉर दट मीन्स मी, स्वीटी, प्रीति & यू बोथ गाइस.

जॉर्ज- आइ अग्री फॉर दट वी विल एंजाय इट & हेनरी लव्स गंगबॅंग ड्प, अनल & ब्लोवजोब यू ऑल्सो लाइक वी विल एंजाय इट.

राज- लेट्स गो & एंजाय इट क्यों स्वीटी चलें . हां हां क्यों नही स्वीटी ने लगभग हकलाते हुए कहा और पूछा पर हम ये सब करेंगे कहाँ.


राज- जॉर्ज डू यू हॅव एनी प्लेस फॉर दट.

जॉर्ज - डॉन’ट वरी वी ऑल्वेज़ हॅव आ स्वेट बुक हियर कम विथ मी और जॉर्ज हेनरी को इशारा करता है और अपने रूम की ओरबढ़ जाता है. प्रीति और हेनरी भी उनके पीछे पीछे आते हैं और पाँचो एक बहुत ही सुंदर फ्लॅट नुमा रूम में इकट्ठे होते है. रूम हर तरह के साजो समान से सज़ा हुआ था जिसकी शोभा देखते ही बनती थी उसके बीचो बीच किंग साइज़ बेड पड़ा हुआ था साइड में एक डोर वॉशरूम के लिए था बाथरूम भी बहुत बड़ा था जिसके एक लगभग 8 फुट का शीशा लगा हुआ था ज़रूर्रत का हर समान वहाँ मौजूद था. रूम में एक और एक सोफा पड़ा हुआ था पड़ा हुआ था. राज जाकर सोफे पर बैठ जाता है और उन चारो को देखने लगता है. चारो एक दूसरे को किस कर रहे थे साथ ही एक दूसरे के बदन को सहला रहे थे मसल रहे थे.


प्रीति थोड़ा नीचे होते हुए हेनरी की पॅंट का हुक़ खोल देती है और उसके लंड को बाहर निकाल देती है हेनरी का लंड लंबा लगभग 9” का मोटाई भी उसी के अनुरूप प्रीति की आँखे चमक उठती हैं और आगे बढ़ कर प्रीति लंड को किस करती है और एक हाथ से हेनरी की बॉल को पकड़ लेती है हेनरी मज़े में पागल हो जाता है और प्रीति के सर को पकड़ कर अपने लंड को प्रीति के मुँह में डालने की कोसिस करता है. प्रीति अपना मुँह खोलती है और लंड के सूपदे को अपने मुँह में लेती है और अपने सर को आगे पीछे कर लंड को चूसने लगती है हेनरी भी प्रीति के सर को अपने लंड पर दबा देता है और अपने लंड को जितना हो सके उतना प्रीति के मुँह में घुसाने की कोसिस करता है और बड़बड़ाने लगता है यस बेबी टेक इट सक इट बेबी आइ लाइक इट ..... यू डूयिंग गुड जॉब बेबी..या..आ ह. आइ एंजायिंग इट ......

प्रीति भी पूरे जोश में हेनरी के लंड को चूज़ जा रही थी और तेज़ी से अपने सर को आयेज पीहे कर रही थी प्रीति ने हेन्री की पंत को पूरी तरह से उतार दिया अब हेनरी नीचे से बिल्कुल नंगा हो गया...थोड़ी देर और लंड को चूसने के बाद प्रीति उठ खड़ी हुई और सोफे पर बैठे हुए राज की देख कर मुस्कुराइ जो अपना लंड हाथ में लिए हुए सहला रहा था... प्रीति ने राज की आँखो में देखते हुए एक झटके से अपना टॉप उतार दिया.. ब्रा में क़ैद उसकी चूचिया एक दम से राज के सामने आ गयी पीछे खड़े हेनरी ने हाथ आगे बढ़ा कर उसकी चूचियों को अपने होंठो में भर लिया और सहलाने लगा...प्रीति एक दम से मच्चल उठी और अपनी जीन्स को भी उतार दिया जिसमे हेनरी ने भी हेल्प की अब प्रीति सिर्फ़ ब्रा और पॅंटी में थी... हेनरी ने प्रीति की ब्रा का हुक खोल दिया उसकी चूचिया एक दम से फड्फाडा उठी... वाउ .. यू हॅव नाइस टिट.. इट्स अमेज़िंग.. पीक ही से जॉर्ज की आवाज़ आई जो प्रीति की ओर ही देख रहा था स्वीटी नीचे बैठी हुए उसका लंड चूस रही थी....हेनरी ने अपने बाकी के कपड़े भी उतार दिए.... साथ ही प्रीति की पॅंटी भी उतार दी ...... प्रीति ने राज की आँखो में देखते हुए उसे अपने पास आने का इसरा किया..... राज उठकर प्रीति और हेनरी के पास आ गया....प्रीति ने आगे बढ़कर राज के कपड़े उतारने में उसकी मदद करने लगी....राज भी अब पूरी तरह नंगा हो गया..... उनकी देखा देखी स्वीटी और जॉर्ज भी नंगे हो गये अब कमरे पाँचो पूरी तरह नंगे थे..... हेनरी ने प्रीति को अपनी गोद में उठा लिया और बेड पर लाकर पटक दिया राज भी साथ साथ बेड पर आ गया..हेनरी प्रीति की टाँगो के बीच अपना सर रख कर उसकी चूत को चाटने लगा..... राज ने अपना लंड प्रीति ने मुँह में डाल दिया जिसे प्रीति बड़े चाव से चूसने लगी ....साथ ही राज अपने हाथो से प्रीति की चूचियों को सहलाने लगा... जॉर्ज भी स्वीटी को लेकेर सोफे पर आ गया और दोनो 69 पोज़िशन में एक दूसरे को चूसने चाटने लगे....
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up MmsBee कोई तो रोक लो 259 16,584 Less than 1 minute ago
Last Post:
  पारिवारिक चुदाई की कहानी 21 224,173 09-08-2020, 06:25 AM
Last Post:
Exclamation Vasna Story पापी परिवार की पापी वासना 198 100,695 09-07-2020, 08:12 PM
Last Post:
Lightbulb Antarvasnax Incest खूनी रिश्तों में चुदाई का नशा 190 55,565 09-05-2020, 02:13 PM
Last Post:
Thumbs Up Antarvasna कामूकता की इंतेहा 50 37,216 09-04-2020, 02:10 PM
Last Post:
Thumbs Up Sex kahani मासूमियत का अंत 13 22,332 09-04-2020, 01:45 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani नजर का खोट 121 548,442 08-26-2020, 04:55 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार 103 409,258 08-25-2020, 07:50 AM
Last Post:
  Naukar Se Chudai नौकर से चुदाई 28 274,713 08-25-2020, 03:22 AM
Last Post:
Star Antervasna कविता भार्गव की अजीब दास्ताँ 18 18,099 08-21-2020, 02:18 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 4 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


Gay video xxxMunh Mein dene walahapci chodai gar ko khun nikal ta haiHolli me dhokey se waif antarvasnahidden chuddae .com96 movie actress gowri nude fake babasexbaba teluugu kathaluchudkkad bani maa jasirinki didi ki chudai ki kahania sexbaba.net prxexx porn imgae hert alie bhattबहन ने अपने भाई को नंगा नहाता देखा तो बहन की वासना जागउठी ओर बहन से रहा नही फिर अपने भाई के कमरे मे जाकर अपने भाई से ही करवाई अपनी चुथ की चुदाइ फिर दोनों रोज करते थे सेक्स वीडियो डाउनलोड चोद चोद कर मेरी बुर फाड़ डालो maderchod sexbaba.netgirl cadhiXXXsexkhaniboobssavita bhabhi epi 110 downloadxxx photos mahabharatbap oral antarvasna xkhanitamanna n anushka shetty n neha kakkar naked phototelugu sex xnxxwww sruthihasan .com.co.inwww.rinki didi ki chudai ki kahania sexbaba.net prसाली नो मुजसे चुतमरवाईWw.xx.video.bata.ma.ko.jabardadti.toktay.samy.comDsei 42sexxxxindiyanbahuSriyasaran sexnud potosh टिकाई की मस्त नगी विडियोfakhindisexvideoAishwarya pisse porn picsKuwari shali ka hard boobussgeela hokar bhabhi ka blouse khul gaya sex storynai bra me tatti nikaliवेलम्मा हिन्द कॉमिक्स एपीसोड 91शिकशी का काहानीPriya Vasudev Mani Iyer xxx fakeअपने भाई के बालों से भरे सीने को अपने होंठो से चूमने लगीpusi dekhadti anti xvideoboobphotoxxBete se chudne ka maja sexbaba Wwwxxx sorry aapko Koi dusri Aurat Chod Kekanchan bhabhi ki gand ki dardnak chudai ki kahaniyaXXNXXABBAचुत में लंड कैसे डाले माहिती पाहिजेxxxjaclin apni chut me ungli karte huey photo XXNXX.COM. नींद में ऐसी हरक़त कर दी सेक्सी विडियों Ladki ko garm kese krajata hy storyxxxxhfgu10 लोगो ने छिनाल मा को छोड़ कर रण्डी बनायापुजा भाभीला जवलोरितिरिवाज।सेकसी।मुविsomya tandon porn pictures xxx with tiwarirakhana xxxxhero salman khan na ki gand mare ha bfxxxXxvideoDhvanidasi hindi ardio xxxbhabi ne devar ko daru pelakar apne boobs dabvayewww sexbaba net Thread non veg story E0 A4 9D E0 A5 82 E0 A4 A0 E0 A5 80 E0 A4 B6 E0 A4 BE E0 A4 A6देवोलीनाभट्टचाचकीगदीफोटोजुमtv serial bhabhiji ghar par hain actresses xxx nude naked nangi chudai porn photosहिंदी सेक्स स्टोरी matakte gad ma behan dada bibi betiఅమ్మ ఆతుववव अनुष्का शेट्टी क्सक्सक्स पुसी फोटो कॉमminkshi sheshadri nude pphotos-sex.baba.चडडी अडरवियर पर लङकी के फोटोmastram ki sex kahani rubi vavi jbrdst pelaibig xxx hinda sex video chudai chut fhadnaanli Marathi anty ki chudaei video सुजाता मेहता की बूर चुचीकीचड़ होली मे सेकसी मसतीxxx photo ananya kawww.bittu ne anita babhi ke xnxx and boobs dabaye jabardasti se video download com.बचा हो गयाxxxganw की देशी chadhi baniyanalisha panwar sex photo babahot aunty ko Jamin pe letaker chodashvya devun zavlesex story aunty sexy full ji ne bra hook hatane ko khaचाची को उलठा लेटा कर गाँडjacqueline fernandez ki hard chudai ki photo on sexbaba.codiana panty sexbababf xxx vip xxxkhani रवीना टनडन काXxxMkvfakesxxxxnanadactor umashripussyXxx skc Dehati indian Mumbai Naye kalijaAnita.hasnandni sex baba sexi nangi fotuBur chodane ka tareoa .comKiara Advani getting fuckedfakes चोद चोद कर मेरी बुर फाड़ डालो maderchod sexbaba.netdese anti anokhe chudai kahaniyaTina parekh Archives photos xxxchuda khub rone lagi larki xnxwww.kam.prinitha.xxx.photo.bhejoFamily me biwi aur meri ladli bahan sexbaba bhabhi bathroom mein Nahate Hue kele ki kapde utarti Huihema nud actress sex baba .co.inshrenu parikh hot sex baba picsxxx hinde lmages babalatest hindi sex storyhot boobas dikhati girl fotovarshini sounderajan sexbaba